गुजरात में कोरोना के 313 नए मामले, कुल संख्या 4395 हुई, अभी तक 214 लोगों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2020   22:01
गुजरात में कोरोना के 313 नए मामले, कुल संख्या 4395 हुई, अभी तक 214 लोगों की मौत

गुजरात में कोविड-19 की बात करें तो.... राज्य में अभी तक 64,007 लोगों के नमूनों की जांच हुई है। इनमें से 4,395 की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है, जिनमें से 214 लोगों की मौत हो चुकी है, 613 लोग इलाज के बाद संक्रमण मुक्त होकर घर जा चुके हैं और 3,568 लोगों की अभी भी इलाज चल रहा है।

अहमदाबाद।  गुजरात में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 313 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में अभी तक 4,395 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव जयंती रवि ने आज बताया कि पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 17 और लोगों की मौत हुई है। राज्य में अभी तक संक्रमण से 214 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने बताया, ‘‘पिछले 24 घंटे में आए 313 नए मामलों में से 249 मामले अकेले अहमदाबाद से ही आए हैं। वहीं वड़ोदरा से 19, सूरत से 13, गांधीनगर से 10, पंचमहाल से 10 और भावनगर से चार नए मामले आए हैं।’’

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, अहमदाबाद में आज कोविड-19 के 249 नए मामले आने के साथ ही शहर में 3,021 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। वहीं जिले में संक्रमण से अभी तक 149 लोगों की मौत हुई है। विज्ञप्ति के अनुसार, पिछले 24 घंटे में जिले में संक्रमण से कुल 12 लोगों (सात पुरुष और पांच महिलाओं) की मौत हुई है। रवि ने बताया कि राज्य के अन्य हिस्सों जैसे.. आणंद, महेसाना, अरवाली और दाहोद में भी नए मामले आए हैं। गुजरात में कोविड-19 की बात करें तो.... राज्य में अभी तक 64,007 लोगों के नमूनों की जांच हुई है। इनमें से 4,395 की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है, जिनमें से 214 लोगों की मौत हो चुकी है, 613 लोग इलाज के बाद संक्रमण मुक्त होकर घर जा चुके हैं और 3,568 लोगों की अभी भी इलाज चल रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।