अरुणाचल प्रदेश में संक्रमितों की तादाद बढ़कर 1,158 हुई, अभी तक 505 व्यक्ति हो चुके हैं स्वस्थ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 27, 2020   11:47
अरुणाचल प्रदेश में संक्रमितों की तादाद बढ़कर 1,158 हुई, अभी तक 505 व्यक्ति हो चुके हैं स्वस्थ

निगरानी अधिकारी डॉ. एल. जम्पा ने बताया कि राज्य में इन नये मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 1,158 हो गई है। इनमें से 650 मरीजों का अभी कोविड-19 का इलाज चल रहा है और 505 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। राज्य में कोविड-19 से तीन लोगों की जान भी गई है।

ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश में कोविड-19 के 32 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमण के मामले बढ़कर सोमवार को 1,158 हो गए। इन नए मरीजों में आईटीबीपी के छह कर्मी भी शामिल हैं। राज्य के निगरानी अधिकारी डॉ. एल. जम्पा ने बताया कि नए मामलों में पूर्वी कामेंग के जिला मुख्यालय सेप्पा में 11, चांगलांग जिले में आठ, ऊपरी सियांग में छह, कैपिटल कॉम्प्लेक्स में पांच और पूर्वी सियांग तथा निचले सुबनसिरी जिले में एक-एक मामला सामने आया है। जम्पा ने बताया कि ऊपरी सियांग जिले में संक्रमित पाए गए छह लोग भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के कर्मी हैं। वहीं, पूर्वी सियांग और निचले सुबनसिरी में संक्रमित पाए गए दोनों मरीज अन्य राज्यों से लौटे थे। 

इसे भी पढ़ें: भारत में 24 घंटे में कोरोना के 49,931 केस सामने आए, 708 लोगों की मौत 

उन्होंने बताया कि कैपिटल कॉम्प्लेक्स क्षेत्र में पांच लोग ‘रैपिड एंटीजन’ जांच में संक्रमित मिले। वहीं, बाकी नौ लोगों में कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं थे और उन्हें कोविड-19 देखभाल केन्द्र में भर्ती करा दिया गया है। जम्पा ने बताया कि इस बीच 77 मरीज पूरी तरह ठीक भी हो गए हैं लेकिन अभी उन्हें पृथक-वास में रहने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि राज्य में इन नये मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 1,158 हो गई है। इनमें से 650 मरीजों का अभी कोविड-19 का इलाज चल रहा है और 505 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। राज्य में कोविड-19 से तीन लोगों की जान भी गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।