पुडुचेरी में कोरोना वायरस संक्रमण के 345 नए मामले, कुल मामलों की संख्या बढ़कर 10,859 हुई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 24, 2020   16:49
पुडुचेरी में कोरोना वायरस संक्रमण के 345 नए मामले, कुल मामलों की संख्या बढ़कर 10,859 हुई

पिछले 24 घंटे के दौरान 285 और मरीजों को ठीक होने के बाद छुट्टी दे दी गई। उन्होंने बताया कि केंद्रशासित प्रदेश में कोविड-19 के कुल 10,859 मामलों में से 3,753 रोगी उपचाराधीन हैं और 6,942 मरीजों को अब तक छुट्टी दी जा चुकी है।

पुडुचेरी। पुडुचेरी में सोमवार को कोविड-19 के 345 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमित लोगों की कुल संख्या 10,859 हो गई तथा तीन महिलाओं सहित पांच और व्यक्तियों की संक्रमण से मौत हो गई। स्वास्थ्य मंत्री मलाडी कृष्ण राव ने डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में बताया कि कोविड-19 के 345 नए मामले 1,192 नमूनों की जांच के बाद सामने आए। पिछले 24 घंटे के दौरान 285 और मरीजों को ठीक होने के बाद छुट्टी दे दी गई। उन्होंने बताया कि केंद्रशासित प्रदेश में कोविड-19 के कुल 10,859 मामलों में से 3,753 रोगी उपचाराधीन हैं और 6,942 मरीजों को अब तक छुट्टी दी जा चुकी है। 

इसे भी पढ़ें: पुडुचेरी में कोरोना वायरस संक्रमण के 520 नए मामले, कुल मामलों की संख्या बढ़कर 10,112 हुई

पिछले 24 घंटे में पांच और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 164 हो गई है। मंत्री ने कहा कि संक्रमण से जान गंवाने वालों में से अधिकतर को और भी बीमारियां थीं तथा उनकी आयु 56 से 61 वर्ष के बीच थी। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने अभी तक 64,652 नमूनों की जांच की है और उनमें से 52,169 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। बाकी नमूनों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। राव ने सप्ताहांत में दो दिन के पूर्ण लॉकडाउन का पक्ष लिया ताकि संक्रमण के मामलों में कमी लाई जा सके और कहा कि वह राज्यस्तरीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक में मुख्यमंत्री वी नारायणसामी को दो दिवसीय लॉकडाउन का सुझाव देंगे। उन्होंने लोगों से सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील भी की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...