महाराष्ट्र में कोरोना के 3890 नये मामले, कुल मामले 142900 हुए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 25, 2020   09:52
महाराष्ट्र में कोरोना के 3890 नये मामले, कुल मामले 142900 हुए

अधिकारी ने कहा कि इन 208 मरीजों में से 72 की मौत पिछले 48 घंटे में हुई जबकि बाकी 136 की मौत उससे पहले हुई थी लेकिन पूर्व में उनकी मौत का कारण कोविड-19 के रूप में उल्लेखित नहीं था।

मुंबई। महाराष्ट्र में बुधवार को कोविड-19 के 3,890 नये मामले सामने आये जिससे राज्य में इसके कुल मामले बढ़कर 1,42,900 हो गए। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने दी। अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस से 208 लोगों की मौत होने से राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 6,739 हो गई। अधिकारी ने कहा कि इन 208 मरीजों में से 72 की मौत पिछले 48 घंटे में हुई जबकि बाकी 136 की मौत उससे पहले हुई थी लेकिन पूर्व में उनकी मौत का कारण कोविड-19 के रूप में उल्लेखित नहीं था।

राज्य में बुधवार को 4161 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई जो कि राज्य में एक दिन में अभी अस्पताल से छुट्टी पाये मरीजों की दूसरी सबसे बड़ी संख्या है। अधिकारी ने बताया कि कुछ सप्ताह पहले राज्य में एक दिन में पांच हजार से अधिक मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी मिली थी। अधिकारी ने कहा कि राज्य में अब ऐसे मरीजों की संख्या 62,354 है जिनका अभी उपचार चल रहा है। 

इसे भी पढ़ें: मुंबई में कोरोना के 1,144 नए मामले, 38 और मरीजों की मौत, 2,434 लोगों को अस्पताल से मिली छुट्टी

अधिकारी ने कहा कि अभी तक लिये गए कुल 8,23,775 नमूनों में से 1,42,900 संक्रमित (17.34 प्रतिशत) पाये गए हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में 5,57,948 लोग घर पर पृथकवास में हैं जबकि 33,581 संस्थागत पृथकवास में हैं। महाराष्ट्र के कोविड-19 के आंकड़े इस प्रकार हैं- कुल मामले 1,42,900, नये मामले 3,890, मृतक संख्या 6,739, ठीक हुए मरीजों की संख्या 73,792, ऐसे मरीज जिनका अभी इलाज चल रहा है 62,354 और अभी तक कुल 8,23,775 जांच हुई हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।