तेलंगाना में कोरोना के 397 नए मामले, दो मरीजों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 29, 2020   12:03
तेलंगाना में कोरोना के 397 नए मामले, दो मरीजों की मौत

संक्रमित हुए लोगों में अभिनेता राम चरण का नाम भी शामिल है। उन्होंने पिछले कुछ दिनों में उनके संपर्क में आए लोगों से कोविड-19 की जांच कराने का अनुरोध किया है।

हैदराबाद। तेलंगाना में कोविड-19 के 397 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 2.85 लाख से अधिक हो गयी है। वहीं संक्रमण से दो और लोगों के दम तोड़ने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,535 हो गयी है। संक्रमित हुए लोगों में अभिनेता राम चरण का नाम भी शामिल है। उन्होंने पिछले कुछ दिनों में उनके संपर्क में आए लोगों से कोविड-19 की जांच कराने का अनुरोध किया है। अभिनेता ने ट्वीट किया, ‘‘मैं कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया हूं। संक्रमण के कोई लक्षण नहीं हैं। मैं घर पर पृथक-वास में हूं। उम्मीद है जल्द ठीक हो जाऊंगा और वापसी करूंगा।’’ 

इसे भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अमेरिका में कोविड-19 के अन्य टीकों का अध्ययन जारी

राज्य सरकार द्वारा मंगलवार को जारी स्वास्थ्य बुलेटिन में 28 दिसंबर रात आठ बजे तक के मामलोंकी जानकारी दी गयी है। बुलेटिन के अनुसार ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) क्षेत्र में सबसे अधिक 92 मामले आए। इसके बाद मेडचल मलकाजगिरि से 37, रंगारेड्डी से 28 मामले आए। बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में 2,77,931 लोग अब तक संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। संक्रमण से पीड़ित 5,999 मरीजों का उपचार चल रहा है। 

इसे भी पढ़ें: अरुणाचल प्रदेश में कोरोना के सात नए मामले, संक्रमितों की कुल संख्या 16,696 हुई

अब तक 67.93 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच हो चुकी है। बुलेटिन के मुताबिक प्रति दस लाख आबादी पर करीब 1.82 लाख नमूनों की जांच की गयी है। राज्य में कोविड-19 से मृत्यु दर 0.53 प्रतिशत है जबकि राष्ट्रीय स्तर पर यह 1.4 प्रतिशत है। तेलंगाना में संक्रमण से ठीक होने की दर 97.36 प्रतिशत है जबकि राष्ट्रीय स्तर पर यह दर 95.9 प्रतिशत है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।