मध्य प्रदेश पुलिस महकमे में 4269 आरक्षकों की होगी भर्ती: नरोत्तम मिश्रा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 27, 2020   11:02
मध्य प्रदेश पुलिस महकमे में 4269 आरक्षकों की होगी भर्ती: नरोत्तम मिश्रा

गृह मंत्री ने यहां पुलिस मुख्यालय में विभागीय समीक्षा करते हुए शुक्रवार को यह निर्देश दिए। मिश्रा ने कहा कि विभाग में आरक्षकों के रिक्त पदों को जल्द भरा जाए और साथ ही विभागीय अधिकारियों की पदोन्नति प्रक्रिया नियमानुसार शुरू की जाए।

भोपाल। कोविड-19 संकट के मद्देनजर मध्यप्रदेश सरकार पुलिस महकमे में शीघ्र ही 4269 आरक्षकों की भर्ती करेगी। मध्यप्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राज्य के पुलिस महानिदेशक विवेक जोहरी को 4269 पुलिस आरक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिए हैं। गृह मंत्री ने यहां पुलिस मुख्यालय में विभागीय समीक्षा करते हुए शुक्रवार को यह निर्देश दिए। मिश्रा ने कहा कि विभाग में आरक्षकों के रिक्त पदों को जल्द भरा जाए और साथ ही विभागीय अधिकारियों की पदोन्नति प्रक्रिया नियमानुसार शुरू की जाए।

उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए विभागीय अधिकारी पूरी सजगता और तत्परता से कार्य करें। साइबर अपराध नियंत्रण प्रौद्योगिकी को उन्नत बनाया जाए और सोशल मीडिया शाखा को सशक्त करें। अधिकारी ने बताया कि इसके अलावा गृह मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सेना की तर्ज पर पुलिस अस्पताल बनाने का प्रस्ताव पेश किया जाए। उन्होंने कहा कि बैठक में मिश्रा ने केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल का मुख्यालय सिंगरौली से भोपाल स्थानांतरित किए जाने की मंजूरी दी। साथ ही उन्होंने भोपाल की फायरिंग रेंज को बालमपुर की नवीन फायरिंग रेंज में स्थानांतरित करने के लिए आवश्यक बजटीय स्वीकृति और प्रदेश में पुलिस बल बढ़ाए जाने के लिए गृह मंत्रालय से मंजूरी लिए जाने के वास्ते आवश्यक कार्यवाही हेतु सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।