कैबिनेट मंत्री से मांगी 5 करोड़ रुपये रंगदारी, चौथे दिन प्राथमिकी दर्ज कराई

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 16 2019 5:55PM
कैबिनेट मंत्री से मांगी 5 करोड़ रुपये रंगदारी, चौथे दिन प्राथमिकी दर्ज कराई
Image Source: Google

पुलिस अधीक्षक (अपराध) आशुतोष मिश्रा ने पीटीआई भाषा को बताया कि फोन पर मंत्री नंदी को धमकी दिए जाने और उनसे रंगदारी मांगे जाने के संबंध में 15 मई को रात साढ़े नौ बजे पुलिस को सूचित किया गया जिस पर कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज की गई।

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ से 5 करोड़ रुपये रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है। पिछले रविवार 12 मई को दोपहर 12:10 बजे मंत्री के मोबाइल पर एक अज्ञात व्यक्ति ने फोन करके 5 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी और रकम नहीं देने पर मंत्री और उनके परिवार की हत्या कराने की धमकी दी। पुलिस अधीक्षक (अपराध) आशुतोष मिश्रा ने पीटीआई भाषा को बताया कि फोन पर मंत्री नंदी को धमकी दिए जाने और उनसे रंगदारी मांगे जाने के संबंध में 15 मई को रात साढ़े नौ बजे पुलिस को सूचित किया गया जिस पर कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज की गई।
भाजपा को जिताए

प्राथमिकी में मंत्री की ओर से उनके कानूनी सलाहकार सुभाष वाजपेयी ने बताया कि फोन करने वाले व्यक्ति ने मंत्री नंद गोपाल गुप्ता को अपशब्द कहे और पांच करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी। रंगदारी न मिलने पर उसने मंत्री और उनके परिवार को जान से मरवाने की धमकी दी। प्राथमिकी के मुताबिक, धमकी देने के बाद व्यक्ति ने फोन काट दिया और फिर मंत्री के मोबाइल नंबर पर एसएमएस भेजा जिसमें उसने नंदी के परिवार के बारे में अपशब्दों का उपयोग किया।
पुलिस अधीक्षक (अपराध) आशुतोष मिश्रा ने बताया कि अज्ञात व्यक्ति का पता लगाने के लिए उस मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर डाल दिया गया है और व्यक्ति का पता लगाया जा रहा है। आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 383, 504 और 507 के तहत मामला दर्ज किया गया है। उल्लेखनीय है कि 2010 में प्रदेश में बसपा की सरकार में मंत्री रहते हुए नंद गोपाल गुप्ता पर रिमोट बम से हमला किया गया था जिसमें एक पत्रकार और एक गनर की मौत हो गई थी और मंत्री बुरी तरह घायल हो गए थे।


 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story