तेलंगाना में हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने ढेर किए 6 माओवादी

 Naxali
, भद्राद्री कोठागुडेम के एसपी सुनील दत्त ने कहा कि, तेलंगाना ग्रेहाउंड्स और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई, एसपी ने बताया कि तेलंगाना और छत्तीसगढ़ के सीमा क्षेत्र में किस्ताराम पीएस सीमा के वन क्षेत्र में मुठभेड़ में 6 नक्सली मारे गए।

तेलंगाना में सोमवार तड़के सुरक्षा बलों के साथ गोलीबारी में 4 महिलाओं समेत कम से कम 6 माओवादी मारे गए हैं। यह मुठभेड़ तेलंगाना के भद्राद्री कोठागुडेम जिले के पेसालापाडु वन क्षेत्र में हुई। इलाके में तलाशी अभियान जारी है, भद्राद्री कोठागुडेम के एसपी सुनील दत्त ने कहा कि, तेलंगाना ग्रेहाउंड्स और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई, एसपी ने बताया कि तेलंगाना और छत्तीसगढ़ के सीमा क्षेत्र में किस्ताराम पीएस सीमा के वन क्षेत्र में मुठभेड़ में 6 नक्सली मारे गए। यह ऑपरेशन अभी भी जारी है हम हालात का जायजा ले रहे हैं।

 बताया जा रहा है कि घटना सुबह 6 से 7 बजे के करीब की है। एसपी ने कहा कि, उन्हें सूचना मिली थी कि माओवादी सुरक्षाबलों पर हमला कर सकते हैं। इसी सूचना के बाद तलाशी अभियान चलाया गया। यह अभियान अंतरराज्जीय संयुक्त अभियान तेलंगाना की ग्रेहाउंड फोर्स द्वारा चलाया गया था। इसमें छत्तीसगढ़ के डीआरजी और सीआरपीएफ बलों द्वारा मदद की गई थी। माओवादियों के बारे में पुलिस ने बताया कि, ये  माओवादी चेरला एरिया कमेटी के हैं, मारे जाने वाले लोगों में उनका एक वरिष्ठ नेता भी हो सकता है।

 एसपी ने बताया कि सूचना मिली थी कि, माओवादियों का एक समूह पेसलपाडु इलाके में डेरा डाले हुए है। अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, एसपी ने कहा कि सूचना थी कि वो पुलिस पर हमला करने के लिए आईईडी  तैयार कर रहे थे। छत्तीसगढ़ और तेलंगाना ग्रेहाउंड्स द्वारा संयुक्त अभियान चलाया गया और माओवादियों के समूह के साथ मुठभेड़ सुबह 6:30 से 7:00 के बीच हुई। इस मुठभेड़ में कम से कम 6 माओवादी मारे गए हैं। इनकी पहचान करना अभी बाकी है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बस्तर के आईजीपी सुंदर राज ने बताया कि विशेष खुफिया जानकारी के आधार पर ऑपरेशन किया गया था। उन्होंने कहा, मुख्य कार्यवाई तेलंगाना फोर्सेस की थी। सीआरपीएफ और डीआरजी के हमारे जवानों ने किस्टाराम इलाके में मदद की।

 

 सुकमा जिले के पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने मुठभेड़ को एक सफलता बताया और दावा किया कि, इससे नक्सलियों के किस्टाराम एरिया कमेटी को बड़ा झटका लगा है। शर्मा ने बताया कि सुकमा जिले में नक्सलियों के 5 या कमेटी सक्रिय है। पिछले 6 महीनों से सुरक्षाबलों ने केरलापाल और कोंटा एरिया कमेटी पर  लगाम कसी है। पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी कि, पिछले 1 वर्ष के दौरान केरलापाल एरिया कमेटी के कई नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है। शर्मा ने बताया कि, जिले में सक्रिय किस्टाराम एरिया कमेटी काफी हद तक समाप्त हो गई है।

अन्य न्यूज़