उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के 607 नये मामले सामने आए, 19 और लोगों ने गंवाई जान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 27, 2020   23:50
उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के 607 नये मामले सामने आए, 19 और लोगों ने गंवाई जान

उन्होंने बताया कि शुक्रवार को प्रदेश में नमूनों की जांच के मामले में नया मुकाम हासिल हुआ। शुक्रवार को प्रदेश में कुल 20, 028 नमूनों की जांच की गई। प्रदेश में अब तक कुल 6, 63, 096 नमूनों की जांच हो चुकी है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के 607 नये मामले सामने आने के साथ राज्य में शनिवार को कुल संकमितों की संख्या बढ़कर 21,549 हो गयी। वहीं, बीते 24 घंटे में 19 और मौतों के साथ ही राज्य मेंकोरोना वायरस से जान गंवाने वालों का आंकडा 649 हो गया। सरकारी बुलेटिन के अनुसार बीते 24 घंटे में संक्रमण के 607 नये प्रकरण सामने आये। वहीं राज्य में इस समय उपचाराधीन मरीजों की संख्या 6,685 है। अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि कि 14,215 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है जबकि कोरोना संक्रमण से 19 और मौतों के साथ ही मृतकों का आंकडा 649 पहुंच गया है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 21, 549 हो गई।

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में 5 जुलाई से हर रविवार को रहेगा लॉकडाउन, विस्तार से जानें कौन-कौन से नियमों में हुई तब्दीली

उन्होंने बताया कि शुक्रवार को प्रदेश में नमूनों की जांच के मामले में नया मुकाम हासिल हुआ। शुक्रवार को प्रदेश में कुल 20, 028 नमूनों की जांच की गई। प्रदेश में अब तक कुल 6, 63, 096 नमूनों की जांच हो चुकी है। प्रसाद ने बताया कि पूल जांच के माध्यम से शुक्रवार को पांच-पांच नमूनों के 1,727 पूल लगाये गये, जिनमें से 219 पूल के नतीजे पाजिटिव निकले जबकि 10-10 नमूनों के 185 पूल लगाये गये, जिनमें से 29 की रिपोर्ट पाजिटिव आई। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप का लगातार इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके माध्यम से जिन लोगों को अलर्ट आये, स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष से ऐसे 93, 514 लोगों को फोन कर उनका हाल चाल लिया जा चुका है।

इसे भी पढ़ें: खुद के रिकॉर्ड तोड़ रहा महाराष्ट्र, एक दिन में सर्वाधिक कोरोना के 5,318 मामले आए सामने

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि आशा कार्यकर्ताओं ने 18 लाख 85 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों के गांव एवं घर जाकर उनका हाल चाल लिया। इनमें से 1,648 ऐसे प्रवासी कामगार मिले, जिनमें कोरोना संक्रमण के कोई ना कोई लक्षण पाये गये। उन सभी के नमूने लेकर जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि मेरठ मंडल में मामले ज्यादा आ रहे हैं। मेरठ के लिए अलग से कार्ययोजना तैयार की जा रही है। पांच जुलाई से 10 जुलाई के बीच कोविड-19 का सर्वेक्षण अभियान चलाएंगे। गांवों और शहरों के एक-एक घर पर टीमें जाएंगी और लोगों का सर्वे कर उनका हालचाल जानेंगी। प्रसाद ने बताया कि टीमें पूछेंगी कि घर में पहले से कोई बीमार तो नहीं है। घरों में कितने बुजुर्ग हैं, उनके सेहत की स्थिति क्या है। उन्होंने कहा कि व्यापक सर्वेक्षण कराएंगे यह पता लगाया जाएगा कि कहीं किसी में संक्रमण का कोई लक्षण तो नहीं है।

उन्होंने बताया कि एंटीजन जांच शुक्रवार को दस जिलों में की गई। मेरठ मंडल के छह जिलों के अलावा लखनउ, गोरखपुर, प्रयागराज और वाराणसी में एंटीजन जांच की गई। कुल 826 एंटीजन जांच में से 26 नमूनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि हम एक और अनूठी पहल करने जा रहे हैं, जिसके तहत लोगों को हम एक-एक मिनट के वीडियो बनाने के लिए प्रेरित करेंगे। उसमें सौ सबसे अच्छे वीडियो को 10-10 रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम लोगों से सुझाव मांग रहे हैं। डेढ सौ शब्दों के दस सबसे अच्छे सुझाव को भी 10-10 हजार रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। लोगों के इस बारे में विचार जानेंगे कि संक्रमण की कड़ी कैसे तोड़ी जाए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।