ओडिशा में कोरोना के 6,215 नए मामले, आठ और मरीजों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 23, 2021   16:36
ओडिशा में कोरोना के 6,215 नए मामले, आठ और मरीजों की मौत

अधिकारी ने बताया कि नए मामलों में 3,604 मरीज पृथकवास केंद्रों में आए हैं जबकि 2,611 लोगों के संक्रमित होने का पता संक्रमित के संपर्क की जांच करने के दौरान चला। उन्होंने बताया कि ओडिशा के सभी 30 जिलों में कोविड-19 के मामले आए है।

भुवनेश्वर। ओडिशा में शुक्रवार को कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 6,215 नए मामले आने के साथ राज्य में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 3,94,694 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि इसी के साथ गत 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित आठ मरीजों की मौत हुई है जिन्हें मिलाकर अब तक ओडिशा में महामारी से 1,973 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। अधिकारी ने बताया कि नए मामलों में 3,604 मरीज पृथकवास केंद्रों में आए हैं जबकि 2,611 लोगों के संक्रमित होने का पता संक्रमित के संपर्क की जांच करने के दौरान चला। उन्होंने बताया कि ओडिशा के सभी 30 जिलों में कोविड-19 के मामले आए है। 

इसे भी पढ़ें: लापरवाह अफसरों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे मुख्यमंत्री: अखिलेश

अधिकारी ने बताया कि खुर्दा जिला जिसमें राज्य की राजधानी भुवनेश्वर स्थित है उसमें सबसे अधिक 950 नए मामले आए। इसके अलावा सुंदरगढ़ में 684, कालाहांडी में 682, नवपाड़ा में 446, कटक में 383, पुरी में 306, बारगढ़ में 268, संबलपुर में 263,झारसुगुडा में 261, नबरंगपुर में 257 और बोलंगीर में 211 नए मामले आए। राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने ट्वीट किया, ‘‘यह सूचित करते हुए खेद हो रहा है कि आठ कोविड-19 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो गई।’’ अधिकारी ने बताया कि ओडिशा में 39,117 उपचाराधीन मरीज हैं जबकि गत 24 घंटे में 2,165 मरीज ठीक हुए जिन्हें मिलाकर अब तक 3,53,551 मरीज महामारी को मात दे चुके हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में बृहस्पतिवार को 41,538 नमूनों की जांच की गई जिनमें संक्रमण की दर 4.03 प्रतिशत रही। 

इसे भी पढ़ें: भारत में कोरोना के कहर से डरा ब्रिटेन, भारतीय यात्रियों के लिए शुरू की रेड लिस्ट यात्रा प्रतिबंध

अधिकारी ने बताया कि सभी शहरों में सप्ताहांत में लागू लॉकडाउन की वजह से सरकार इस अवधि में टीकाकरण का काम नहीं करेगी। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के पीके महापात्रा ने सभी जिलाों के अधिकारियों को पत्र लिखकर शनिवार और रविवार टीकाकरण केंद्र को विषाणु मुक्त कराने को कहा है। इस बीच, विपक्षी भाजपा और कांग्रेस ने सरकार से सभी को मुफ्त में टीका देने की व्यवस्था करने की मांग की है। सत्तारूढ़ बीजू जनता दल के नेता देबी प्रसाद मिश्रा ने कहा कि राज्य सरकार उचित समय पर इस संबंध में फैसला लेगी। वहीं, सूत्रों ने बताया कि सरकार 1,600 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च के रूप में सभी को मुफ्त टीका मुहैया कराने के लिए वहन कर सकती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।