गृह मंत्री अमित शाह के असम दौरे के दौरान सात उग्रवादी संगठन डालेंगे हथियार: पुलिस

Amit Shah
पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पीडीसीके, दिमा हलाम दाओगाह और कर्बी पीपुल्स लिबरेशन टाइगर्स जैसे सात उग्रवादी संगठनों के हथियार डालने के साथ ही राज्य के तीन जिलों-कर्बी आंगलोंग, वेस्ट कर्बी आंगलोंग और दिमा हसाओ में उग्रवाद का अंत हो जाएगा।

दीफू। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के 25 फरवरी को होने वाले असम के कर्बी आंगलोंग जिले के दौरे के दौरान छह अन्य प्रतिबंधित संगठनों के साथ हथियार डालने से पहले उग्रवादी संगठन ‘पीपुल्स डेमोक्रेटिक काउंसिल ऑफ कर्बी आंगलोंग’ (पीडीसीके) ने बृहस्पतिवार को एकतरफा संघर्षविराम की घोषणा की। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पीडीसीके, दिमा हलाम दाओगाह और कर्बी पीपुल्स लिबरेशन टाइगर्स जैसे सात उग्रवादी संगठनों के हथियार डालने के साथ ही राज्य के तीन जिलों-कर्बी आंगलोंग, वेस्ट कर्बी आंगलोंग और दिमा हसाओ में उग्रवाद का अंत हो जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद बाहरी लोगों को वापस लौटना होगा: अभिषेक बनर्जी 

पीडीसीके के अध्यक्ष जे के लिजांग ने एक बयान में कहा कि संगठन ने मुद्दों के राजनीतिक समाधान को गति प्रदान करने के लिए एकतरफा संघर्षविराम की घोषणा करने का निर्णय किया है। लिजांग ने उम्मीद जताई कि केंद्र सरकार भी मुद्दों के सौहार्दपूर्ण राजनीतिक समाधान के लिए समान गंभीरता दिखाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी आपराधिक आरोपों से आम माफी और समाज में पुनर्वास के लिए वित्तीय अनुदान की भी मांग करते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़