कर्नाटक में विधान परिषद की चार सीटों पर 71.1 फीसदी हुआ मतदान, 2 नवंबर को आएंगे नतीजे

Vote
आयोग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार उत्तर पूर्व अध्यापक (कलबुर्गी) सीट पर 73.32 फीसदी, बेंगलुरू अध्यापक (बेंगलुरू) सीट पर 66 फीसदी, द.पूर्व स्नातक (बेंगलुरु) पर 75 फीसदी और पश्चिम अध्यापक (बेलगाम) सीट पर 70.11 फीसदी मतदान हुआ।

बेंगलुरु। कर्नाटक में विधान परिषद की चार सीटों के लिए हुए चुनाव में बुधवार को 71.1 प्रतिशत मतदान हुआ। यह जानकारी मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार ने दी। शुरुआत में मतदान का प्रतिशत कम था और सुबह 10 बजे तक केवल 8.5प्रतिशत मतदान हुआ था। कोविड-19 के चलते निर्वाचन आयोग ने चुनाव अधिकारियों को महामारी से संबंधित सुरक्षा नियमों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने को कहा था। कुमार ने बताया कि विधान परिषद की चार सीटों के लिए बुधवार को हुए चुनाव में 71.1 प्रतिशत मतदान हुआ। 

इसे भी पढ़ें: सिद्धारमैया की मांग, बाढ़ की स्थिति पर चर्चा के लिए बुलाया जाए विशेष विधानसभा सत्र 

आयोग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार उत्तर पूर्व अध्यापक(कलबुर्गी) सीट पर 73.32 फीसदी, बेंगलुरू अध्यापक (बेंगलुरू) सीट पर 66 फीसदी, द.पूर्व स्नातक (बेंगलुरु) पर 75 फीसदी और पश्चिम अध्यापक (बेलगाम) सीट पर 70.11 फीसदी मतदान हुआ। ये सीटें पदस्थ सदस्यों के सेवानिवृत्त हो जाने से रिक्त हुई हैं। मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक चला। मतगणना दो नवंबर को होगी। भाजपा के लिए इन चुनावों को अहम माना जा रहा है क्योंकि जरूरी विधेयकों को पारित कराने के लिए उसके पास 75 सदस्यीय विधान परिषद में बहुमत नहीं है। इसमें कांग्रेस के 28 और भाजपा के 27 सदस्य हैं। वहीं, जनता दल-एस के 14 और एक निर्दलीय सदस्य है। इसमें एक अध्यक्ष हैं और चार सीट खाली हैं। चुनाव में चालीस उम्मीदवारों ने अपनी किस्मत आजमाई है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़