आजादी की 75वीं सालगिरह का भव्य कार्यक्रम, PM की अध्यक्षता में सोनिया-ममता समेत 259 लोगों की बनी समिति

  •  अभिनय आकाश
  •  मार्च 6, 2021   13:08
  • Like
आजादी की 75वीं सालगिरह का भव्य कार्यक्रम, PM की अध्यक्षता में सोनिया-ममता समेत 259 लोगों की बनी समिति

आज से ठीक छह दिन बाद यानी 12 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी नमक सत्याग्रह के 91वें साल पूरा होने पर ऐतिहासिक डांडी मार्च भी निकालेंगे। जिसकी रूप-रेखा 8 मार्च की मीटिंग में बनाई जाएगी।

जश्न-ए-आजादी की 75वीं सालगिरह को यादगार बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने अभी से कमर कस ली है। देश के चुनिंदा उच्च स्तरीय लोगों की समिति बनाई गई है जो अगले साल 15 अगस्त के कार्यक्रम में चार चांद लगाने और उसे भव्य बनाने का दिशा-निर्देश देंगे। आज से ठीक छह दिन बाद यानी 12 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी नमक सत्याग्रह के 91वें साल पूरा होने पर ऐतिहासिक डांडी मार्च भी निकालेंगे। जिसकी रूप-रेखा 8 मार्च की मीटिंग में बनाई जाएगी। 

प्रधानमंत्री मोदी ने बनाई उच्चस्तरीय समिति

अगले साल यानी 2022 में भारत आजादी की 75वीं सालगिरह मनाएगा। इस खास मौके पर अभी से इंतजाम शुरू कर दिए गए हैं। पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली 259 सदस्यों की उच्च स्तरीय राष्ट्रीय समिति बनाई गई। ये समिति भारत की आजादी के 75 साल होने पर कार्यक्रमों की रूप-रेखा के लिए नीति-निर्देशन और मार्गदर्शन का काम करेगी। 

इसे भी पढ़ें: साधु-संतों की प्रधानमंत्री मोदी से मांग, शाही स्नान के लिए यमुना में करें शुद्ध जल की व्यवस्था

कौन-कौन समिति में शामिल

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल
  • चीफ जस्टिस एसए बोबडे
  • एनएसए अजती डोभाल
  • सभी केंद्रीय मंत्री
  • लाल कृष्ण आडवाणी
  • 28 मुख्यमंत्री
  • सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, शरद पवार
  • मुलायम सिंह यादव

इनके अलावा अलग-अलग क्षेत्र के गणमान्य लोगों को भी बुलाया गया है। जिनमें अभिनेता दिलीप कुमार, लता मंगेशकर, सचिन तेंदुलकर, नोबल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन, स्वामी रामदेव जैसे नाम शामिल हैं। 

क्या-क्या कार्यक्रम

15 अगस्त 2022 के 75 हफ्ते पहले 12 मार्च 2021 से आयोजनों की शुरुआत हो जाएगी। इसी दिन महात्मा गांधी के ऐतिहासिक नमक सत्याग्रह की 91वीं वर्षगांठ है। इसलिए 12 मार्च को पीएम मोदी ऐतिहासिक डांडी मार्च निकालेंगे। इसके अलावा देश के सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में भारत के ऐतिहासिक वैभव, सांस्कृतिक धरोहर, प्रौद्योगिकी विकास एवं डिजिटल पहल को प्रदर्शित किया जाएगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept