दिल्ली में कोरोना के 808 मरीज ठीक हुए, इनमें 735 रोगी 18-23 अप्रैल के बीच स्वस्थ हुए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2020   19:04
दिल्ली में कोरोना के 808 मरीज ठीक हुए, इनमें 735 रोगी 18-23 अप्रैल के बीच स्वस्थ हुए

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बृहस्पतिवार को जारी ताजा बुलेटिन के अनुसार अभी तक राजधानी में कोरोना वायरस के संक्रमण से 808 रोगी स्वस्थ हो चुके हैं और 1518 का इलाज चल रहा है।

नयी दिल्ली। दिल्ली में बृहस्पतिवार तक कोरोना वायरस के 800 से अधिक मरीज इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं जिनमें 735 रोगी 18 से 23 अप्रैल के बीच ठीक हुए। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने ये आंकड़े साझा किये। दिल्ली सरकार के अधिकारियों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 2,376 हो गयी, वहीं कोविड-19 से मौत के मामले 50 हो गये हैं। अधिकारियों ने बताया कि आज तक सामने आए मौत के 50 मामलों में से 27 रोगियों की उम्र 60 साल या इससे ज्यादा थी जो लगभग 52 प्रतिशत हैं। इनमें 13 की उम्र 50-59 के बीच थी और 10 की उम्र 50 साल से कम थी। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बृहस्पतिवार को जारी ताजा बुलेटिन के अनुसार अभी तक राजधानी में कोरोना वायरस के संक्रमण से 808 रोगी स्वस्थ हो चुके हैं और 1518 का इलाज चल रहा है।

बृहस्पतिवार को 84 मरीज ठीक हो गये। बुधवार को 113 मरीज स्वस्थ हुए, वहीं मंगलवार तथा सोमवार को क्रमश: 180 और 141 मरीज संक्रमण से उबर गये। गत 18 से 23 अप्रैल के बीच 735 मरीज ठीक हुए हैं। दिल्ली में कोविड-19 के विशेष अस्पतालों में शामिल एलएनजेपी अस्पताल के डॉक्टरों ने मरीजों के बड़ी संख्या में ठीक होने का श्रेय रोगी की देखभाल के साथ उनकी इस संकट से उबरने की खुद की इच्छाशक्ति को दिया। एक वरिष्ठ डॉक्टर ने कहा कि कई लोग तो 60 साल से अधिक उम्र होने तथा अन्य बीमारियां होने के बावजूद स्वस्थ हो गये। बृहस्पतिवार को दिल्ली में नियंत्रण क्षेत्रों की संख्या बढ़ाकर 92 कर दी गयी जिनमें विभिन्न इलाकों में तीन नये जोन जोड़े जा रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।