बिहार में अलग-अलग हादसे में आग की चपेट में आने से 9 बच्चों की मौत

9 children died due to fire in different accidents in Bihar
बिहार में अलग-अलग हादसे में आग की चपेट में आकर 9 बच्चों की मौत हो गई है।कहलगांव अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रेशू कृष्णा ने बताया कि खाना बनाने के क्रम में लालमुनि के घर में अचानक आग लग जाने से यह हादसा हुआ।

अररिया-भागलपुर (बिहार)।अररिया और भागलपुर जिले में आग लगने की अलग-अलग घटनाओं में 9 बच्चों की मौत हो गयी है। अररिया जिले के पलासी थाना क्षेत्र के कवैया गांव के वार्ड नंबर 6 में मंगलवार की दोपहर आग की चपेट में आकर छह बच्चों की मौत हो गयी। प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक एजाज हफीज ने बताया कि मृतकों में फारूक के चार वर्षीय पुत्र बरकश, मतीन के पांच वर्षीय पुत्र अली हसन, मंजूर के पांच वर्षीय पुत्र दिलवर, युनुस के पांच वर्षीय पुत्र अशरफ एवं चार वर्षीय पुत्री गुलनाज तथा तनवीर की छह वर्षीय पुत्री खुशनिहा शामिल हैं। उन्होंने बताया कि बच्चे गेंहू की नयी फसल की बालियां भून रहे थे, उसी क्रम में आग से निकली चिंगारी पास की एक फूंस की झोपड़ी पर पड़ी जिससे झोपड़ी में आग लग गयी। बच्चे डर से झोपड़ी के भीतर छुपने गए और वहीं आग की चपेट में आ गए।

इसे भी पढ़ें: चलती बस की खिड़की से झांकी बच्ची, ट्रक से टकराकर कट गया सिर

भागलपुर जिले के पीरपैंती थाना क्षेत्र के परशुरामपुर गांव में सोमवार रात खाने बनाने के क्रम में एक घर में लगी आग की चपेट में आकर तीन बच्चों की झुलसने से मौत हो गई जबकि बच्चों को बचाने की कोशिश में बच्चों के माता-पिता बुरी तरह झुलस गए। कहलगांव के अनुमंडल पदाधिकारी सुजय कुमार सिंह ने हादसे की पुष्टि करते हुए मंगलवार को बताया कि अधिकारियों की टीम को घटनास्थल के लिये भेजा गया है। रिर्पोट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। मृतकों में पेशे से मजदूर लालमुनि मंडल के पांच साल के पुत्र सूरज कुमार, तीन साल की पुत्री प्रीति और एक साल की बेटी नैना कुमारी शामिल हैं। हादसे की सूचना मिलने पर प्रखंड प्रमुख रश्मि कुमारी, पीरपैंती अंचलाधिकारी अरूण गुप्ता और थानाध्यक्ष संजय सत्यार्थी घटनास्थल पहुंचकर जख्मी लालमुनि और उनकी पत्नी को स्थानीय रेफरल अस्पताल पहुंचवाया। दोनों झुलसे दम्पत्ति खतरे से बाहर बताये जाते हैं। कहलगांव अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रेशू कृष्णा ने बताया कि खाना बनाने के क्रम में लालमुनि के घर में अचानक आग लग जाने से यह हादसा हुआ। ग्रामीणों के प्रयास से अन्य घरों को आग की चपेट में आने से बचाया जा सका।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़