KCR की तानाशाही से लोगों को बचाने के लिये महागठबंधन बनाया गया: TDP

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2018   18:40
KCR की तानाशाही से लोगों को बचाने के लिये महागठबंधन बनाया गया: TDP

पूर्व में कटु प्रतिस्पर्धा के बावजूद तेदेपा ने कांग्रेस से हाथ क्यों मिलाया इस सवाल पर रमन्ना ने कहा, ‘‘कांग्रेस में अब बदलाव आ चुका है।

हैदराबाद। तेलंगाना में महागठबंधन या ‘महाकुटुमी’ द्वारा अगली सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त तेलगु देशम पार्टी (तेदेपा) के प्रदेश अध्यक्ष एल रामन्ना ने आरोप लगाया कि के चंद्रशेखर राव ने पहले मुख्यमंत्री बनने के मौके का फायदा अपने परिवार के लाभ पहुंचाने के लिये उठाया तथा विपक्षी दलों का महागठबंधन लोगों को उनके ‘‘तानाशाही शासन’’ से बचाने के लिये किया गया है। रामन्ना ने दिये एक साक्षात्कार में कहा कि केसीआर आठ लाख करोड़ रूपये खर्च करने और 2.2 लाख करोड़ रूपये कर्ज लेने के बावजूद कई मोर्चों पर विफल रहे। 

उन्होंने कहा, ‘‘केसीआर के तानाशाही शासन से लोगों को बचाने के लिये गठबंधन बनाया गया है। लोगों ने 2014 में टीआरएस को चुना था लेकिन केसीआर को दिये गए मौके का इस्तेमाल उनके परिवार को फायदा पहुंचाने के लिये किया गया। तेलंगाना के कल्याण के लिये तानाशाह का शासन अच्छा नहीं है। इसलिये, चार दल साथ आए हैं।’’ सितंबर में विधानसभा को भंग करने के बाद केसीआर विधानसभा चुनावों में एक बार फिर मुख्यमंत्री बनाने के लिये जनता के दरबार में हैं। केसीआर की पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सभी सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि तेदेपा ने कांग्रेस, भाकपा और तेलंगाना जन समिति के साथ मिलकर महा गठबंधन बनाया है। 

यह भी पढ़े: केसीआर का मोदी पर पलटवार: वोट के लिए झूठ मत बोलिए

पूर्व में कटु प्रतिस्पर्धा के बावजूद तेदेपा ने कांग्रेस से हाथ क्यों मिलाया इस सवाल पर रमन्ना ने कहा, ‘‘कांग्रेस में अब बदलाव आ चुका है। पार्टी ने काम करने की अपनी पुरानी शैली और रवैये बदल लिये हैं और इसलिये उसने पी वी नरसिम्ह राव और मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बनाया।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।