कांग्रेस-भाजपा के नापाक गठबंधन से लड़ने को तैयार है AAP: केजरीवाल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 6 2019 9:40AM
कांग्रेस-भाजपा के नापाक गठबंधन से लड़ने को तैयार है AAP: केजरीवाल
Image Source: Google

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ऐसे समय जब पूरा देश मोदी-शाह को हराना चाहता है, कांग्रेस, भाजपा विरोधी वोटों को बांटकर भाजपा की मदद कर रही है। ऐसी अफवाहें हैं कि कांग्रेस का भाजपा के साथ गुप्त समझौता है।’

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को दावा किया कि ऐसी ‘अफवाहें’ हैं कि कांग्रेस का भाजपा के साथ ‘गुप्त समझौता’ है और उनकी आम आदमी पार्टी (आप) इस ‘‘नापाक गठबंधन’’ से लड़ने को तैयार है। केजरीवाल ने ये टिप्पणियां कांग्रेस की इस घोषणा के जवाब में की है कि वह (कांग्रेस) आगामी लोकसभा चुनावों में दिल्ली में ‘आप’ के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: जब PM पाक से नहीं निपट सकते तो कैसे दिल्ली पुलिस को संभालेंगे: केजरीवाल

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘ऐसे समय जब पूरा देश मोदी-शाह को हराना चाहता है, कांग्रेस, भाजपा विरोधी वोटों को बांटकर भाजपा की मदद कर रही है। ऐसी अफवाहें हैं कि कांग्रेस का भाजपा के साथ गुप्त समझौता है।’ उन्होंने कहा, ‘दिल्ली कांग्रेस-भाजपा गठबंधन के खिलाफ लड़ने को तैयार है। जनता इस नापाक गठबंधन को हराएगी।’ आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस, भाजपा को चुनाव जिताने में मदद कर रही है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने संवाददाताओं से कहा, ‘वे (कांग्रेस) भाजपा की चुनाव जीतने में मदद करना चाहते हैं और आप को हराना चाहते हैं। ऐसा लगता है कि केन्द्रीय नेतृत्व पर देश में भाजपा की मदद करने का दबाव है। वे सेना को आगे रखकर चुनाव जीतना चाहते हैं।’ यह पूछे जाने पर कि आप क्यों कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाहती है, राय ने कहा कि महागठबंधन के सभी घटक दलों के नेता चाहते हैं कि विपक्षी पार्टियों के मत नहीं बंटने चाहिए। उन्होंने कहा कि सैद्धांतिक तौर पर हम कई मुद्दों पर कांग्रेस के खिलाफ हैं...लेकिन हम देश के लिए यह जहर (कांग्रेस के साथ गठबंधन) पीना चाहते थे। 

इसे भी पढ़ें: AAP के साथ गठबंधन से शीला दीक्षित का साफ इनकार, बोलीं- अकेले लड़ेंगे चुनाव

राय ने घोषणा की कि आप दिल्ली को पूर्ण राज्य के मुद्दे पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी और उन्होंने भरोसा जताया कि उनकी पार्टी दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटें जीतेगी। पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने के बाद मंगलवार को घोषणा की कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय राजधानी में आगामी लोकसभा चुनावों के लिए ‘आप’ के साथ गठबंधन नहीं करेगी। राय ने कहा, ‘कांग्रेस लुका-छिपी का खेल खेल रही थी। शीला और राहुल गांधी की आज की बैठक के बाद, यह साफ है कि कांग्रेस का रुख देश के मिजाज के खिलाफ है। केवल दिल्ली में नहीं, कांग्रेस अन्य राज्यों में भी देश के मिजाज के खिलाफ जा रही है।’



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video