भाजपा के लिए आज भी प्रेरणास्रोत हैं आडवाणी और जोशी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 27, 2019   16:57
भाजपा के लिए आज भी प्रेरणास्रोत हैं आडवाणी और जोशी

यह पूछे पर कि क्या राम मंदिर मुद्दा लोकसभा चुनाव में भाजपा के एजेंडे में होगा, उन्होंने कहा कि भाजपा राम जन्मभूमि स्थल पर मंदिर निर्माण के प्रति प्रतिबद्ध है।

बलिया (उप्र)। उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा है कि भाजपा ने परिस्थितियों के मद्देनजर मुरली मनोहर जोशी को टिकट से वंचित किया है परन्तु लाल कृष्ण आडवाणी और जोशी अभी भी भाजपा के प्रेरणास्रोत तथा मार्गदर्शक हैं। भाजपा के सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र की विजय संकल्प रैली में भाग लेने आये कृषि मंत्री और भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शाही ने मंगलवार की शाम कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा कि भाजपा ने परिस्थितियों के मद्देनजर जोशी को टिकट से वंचित किया है लेकिन इसका यह मतलब हरगिज नहीं है कि भाजपा में आडवाणी व जोशी युग समाप्त हो गया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि भाजपा के लिए आडवाणी और जोशी हमेशा से प्रेरणास्रोत एवं मार्गदर्शक रहे हैं तथा यह सम्मान सदैव रहेगा। 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के प्रस्तावित अयोध्या दौरे को लेकर पूछे गए एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा ‘‘देर आयद दुरुस्त आयद।’’ शाही ने कहा कि भाजपा को प्रियंका के काशी विश्वनाथ मंदिर दर्शन और अयोध्या यात्रा पर कोई आपत्ति नहीं है। अच्छा है कि उनका भगवान राम पर भरोसा हुआ। उन्होंने सवाल किया कि क्या भगवान राम के अस्तित्व को नकारने वाली कांग्रेस अपने पूर्व के क्रियाकलापों को लेकर देश की जनता से माफी मांगेगी? 

इसे भी पढ़ें: नीरव मोदी प्रत्यर्पण प्रक्रिया: सीबीआई-ईडी टीम लंदन रवाना होगी

यह पूछे पर कि क्या राम मंदिर मुद्दा लोकसभा चुनाव में भाजपा के एजेंडे में होगा, उन्होंने कहा कि भाजपा राम जन्मभूमि स्थल पर मंदिर निर्माण के प्रति प्रतिबद्ध है। शाही ने स्पष्ट किया कि भाजपा राम मंदिर निर्माण के अपने संकल्प को पूरा करेगी। राम मंदिर पर सिर्फ भाजपा की ठेकेदारी नहीं है। अन्य दलों को भी इसके समर्थन में आगे आना चाहिए। मंत्री ने कांग्रेस पर राम मंदिर मसले पर नियोजित तरीके से बाधा डालने का आरोप लगाया। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।