Shraddha Murder Case: नार्को टेस्ट से पहले आफताब का होगा पॉलीग्राफ टेस्ट, कोर्ट ने दी परमिशन

Aftab
creative common
अभिनय आकाश । Nov 21, 2022 6:38PM
मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अविरल शुक्ला, जो संबंधित न्यायाधीश हैं, ने कहा कि चूंकि पहले नार्को अर्जी राठौर द्वारा सुनी गई थी, इसलिए पॉलीग्राफ अर्जी भी उन्हें ही सुननी चाहिए।

दिल्ली पुलिस ने अपनी साथी श्रद्धा वाकर की हत्या के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला के पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए शहर की अदालत में अर्जी दाखिल की। आफताब के पॉलीग्राफी टेस्ट की परमिशन दिल्ली पुलिस को कोर्ट से मिल गई है। अदालत के सूत्रों ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने अपने आवेदन में आरोप लगाया है कि पूनावाला जांच एजेंसी को गुमराह कर रहे हैं और इसलिए यह पता लगाने के लिए पॉलीग्राफ टेस्ट कराया जाना चाहिए कि पुलिस के सवालों के जवाब सही हैं या गलत। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अविरल शुक्ला, जो संबंधित न्यायाधीश हैं, ने कहा कि चूंकि पहले नार्को अर्जी राठौर द्वारा सुनी गई थी, इसलिए पॉलीग्राफ अर्जी भी उन्हें ही सुननी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कभी हॉलीवुड तो कभी बॉलीवुड की फिल्मों से प्रेरित होते रहें हैं अपराधी, श्रद्धा हत्याकांड ही नहीं कई अपराधों में दिखा है फिल्मी कनेक्शन

बता दें कि आरोपी का नार्को टेस्ट होने है, लेकिन उससे पहले पॉलीग्राफी टेस्ट के लिए कोर्ट की परमिशन चाहिए थी, जोकि अब वो अड़चन थी वो अब खत्म हो गई है। पुलिस द्वारा आफताब पूनावाला के बयानों में विसंगतियां पाए जाने के बाद दिल्ली की अदालत द्वारा निर्देशित आफताब पूनावाला का भी नार्को विश्लेषण परीक्षण से गुजरना पड़ेगा। नार्को टेस्ट को ट्रुथ सीरम के रूप में भी जाना जाता है, और इसमें एक दवा का अंतःशिरा प्रशासन शामिल होता है (जैसे सोडियम पेंटोथल, स्कोपोलामाइन और सोडियम अमाइटल) जिसके कारण व्यक्ति को संज्ञाहरण के विभिन्न चरणों में प्रवेश करना पड़ता है।

अन्य न्यूज़