विधानसभा से इस्तीफा देकर लोकसभा के चुनावी मैदान में उतरे खैरा

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 25 2019 6:20PM
विधानसभा से इस्तीफा देकर लोकसभा के चुनावी मैदान में उतरे खैरा
Image Source: Google

पीडीए पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रहा है, जिस गठबंधन में पीईपी, बहुजन समाज पार्टी, लोक इंसाफ पार्टी, नवाँ पंजाब पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और रिवॉल्युशनरी मार्क्सिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया शामिल हैं।

चंडीगढ़। पंजाब एकता पार्टी (पीईपी) के नेता सुखपाल सिंह खैरा ने बठिंडा से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए गुरुवार को राज्य विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। भुलत्थ से विधायक बने खैरा ने आम आदमी पार्टी को छोड़ने के बाद अपना संगठन बनाया था। खैरा ने अपना इस्तीफा पंजाब विधानसभा अध्यक्ष राणा केपी सिंह को भेजा। खैरा ने त्याग-पत्र में लिखा, ‘‘चूंकि, मैं कल बठिंडा लोकसभा सीट से पंजाब लोकतांत्रिक गठबंधन (पीडीए) के उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन पत्र दाखिल करूंगा, ऐसे में एक विधायक के तौर पर राजनीति में नैतिकता और शुचिता को बनाए रखते हुये अपनी भुलत्थ सीट को छोड़ने का फैसला किया है।’’ 

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: अमरिन्दर सिंह ने बेरोजगारी के मुद्दे पर PM और भाजपा पर निशाना साधा

पीडीए पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रहा है, जिस गठबंधन में पीईपी, बहुजन समाज पार्टी, लोक इंसाफ पार्टी, नवाँ पंजाब पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और रिवॉल्युशनरी मार्क्सिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया शामिल हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए, खैरा ने त्याग पत्र में कहा, ‘‘2017 में मुझे आप के टिकट पर भुलत्थ सीट से विधायक चुना गया था। मैं पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा किये गये क्रांतिकारी और ऊंचे वादों के आधार पर आप में शामिल हुआ था। दुर्भाग्य से, उन्होंने न केवल भारत के करोड़ों लोगों की आशाओं को धराशायी कर दिया, बल्कि तुच्छ निजी लाभ के लिए सस्ती राजनीति के निम्नतम स्तर तक उतर चुके हैं।’’ खैरा 2015 में आप में शामिल हुए थे। पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता के पद से हटाए जाने के बाद खैरा ने इस साल जनवरी में पार्टी छोड़ दी थी।

 



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story