अहमदाबाद नगर निगम संचालित मेडिकल कॉलेज का नामकरण मोदी के नाम पर

Modi imgg
प्रतिरूप फोटो
ANI
नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष हितेश बारोट ने कहा, ‘अब, शहर के मणिनगर इलाके में ‘एएमसी एमईटी मेडिकल कॉलेज’ को ‘नरेंद्र मोदी मेडिकल कॉलेज’ के नाम से जाना जाएगा जो एएमसी द्वारा चलाए जा रहे एलजी अस्पताल के परिसर से संचालित होता है।'

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) के एक शिक्षा ट्रस्ट द्वारा संचालित एक मेडिकल कॉलेज का नामकरण बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर किया गया। मेडिकल एजुकेशन ट्रस्ट (एमईटी) अहमदाबाद के मणिनगर इलाके में कॉलेज संचालित करता है। नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष हितेश बारोट ने कहा, ‘‘अब, शहर के मणिनगर इलाके में ‘एएमसी एमईटी मेडिकल कॉलेज’ को ‘नरेंद्र मोदी मेडिकल कॉलेज’ के नाम से जाना जाएगा जो एएमसी द्वारा चलाए जा रहे एलजी अस्पताल के परिसर से संचालित होता है।"

उन्होंने कहा कि बृहस्पतिवार को हुई स्थायी समिति की बैठक में मेडिकल कॉलेज का नामकरण मोदी के नाम पर करने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित हुआ।उन्होंने कहा कि कॉलेज का निर्माण तब किया गया था जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि यह मेडिकल कॉलेज प्रधानमंत्री मोदी के गुजरात का मुख्यमंत्री रहने के दौरान बनाया गया था, इसलिए सभी की राय थी कि इसका नाम नरेंद्रभाई के नाम पर रखा जाना चाहिए ताकि लोग उनके योगदान को याद रखें। यह न्यूनतम है जो हम उस व्यक्ति के लिए कर सकते हैं जिसने राज्य और शहर के लिए इतना कुछ किया है।

एएमसी की स्थायी समिति के अध्यक्ष के अनुसार, लगभग 300 मेडिकल छात्र हर साल इस कॉलेज में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेते हैं। शैक्षणिक संस्थान एएमसी द्वारा संचालित एलजी अस्पताल से संबद्ध है जिसमें 1,050 बिस्तर हैं। कॉलेज 2009 में तब स्थापित किया गया था जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। यह हर में एएमसी एमईटी द्वारा संचालित तीन मेडिकल कॉलेजों में से एक है। बारोट ने कहा, ‘‘राज्य में चिकित्सा शिक्षा को मजबूत करने के लिए कॉलेजों का निर्माण करना मोदी की दृष्टि थी ताकि राज्य में लोगों की सेवा करने के लिए अधिक डॉक्टर मिल सकें। एएमसी ने उस दृष्टि के मद्देनजर मोदीजी के नाम पर कॉलेज का नाम रखा है।’’

बारोट एमईटी के सदस्य भी हैं। बारोट ने बुधवार को हुई एमईटी की कार्यकारी समिति की बैठक के दौरान सबसे पहले कॉलेज का नाम बदलने का विचार पेश किया था। ट्रस्ट ने बारोट के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया और बृहस्पतिवार को होने वाली स्थायी समिति की बैठक के दौरान इसे ‘‘तत्काल मामले’’ के रूप में विचार के लिए प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि बैठक के दौरान प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित किया गया। गुजरात क्रिकेट संघ ने 2021 में अहमदाबाद के मोटेर क्षेत्र में निर्मित एक क्रिकेट स्टेडियम का नामकरण प्रधानमंत्री के नाम पर किया था। उक्त कदम को लेकर विवाद हुआ था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़