भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए तैयार, हम उठाएंगे जनता के मुद्दे: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 21, 2019   14:32
भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए तैयार, हम उठाएंगे जनता के मुद्दे: कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि इन चुनावों में कांग्रेस किसानों की परेशानी, बेरोजगारी, आर्थिक मंदी और जनता से जुड़े अन्य मुद्दे उठाएगी।

नयी दिल्ली। महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा का स्वागत करते हुए कांग्रेस ने शनिवार को दावा किया कि इन दोनों राज्यों की जनता भाजपा को सत्ता से बाहर करने की तैयारी में है। पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि इन चुनावों में कांग्रेस किसानों की परेशानी, बेरोजगारी, आर्थिक मंदी और जनता से जुड़े अन्य मुद्दे उठाएगी। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि चुनाव तिथियों की घोषणा हुई है। हम इसका स्वागत करते हैं। हम तन, मन और बल से तैयार हैं। हम जनता के मुद्दे पूरे जोश से उठाएंगे जैसे कि पहले भी उठाते आएं हैं। 

इसे भी पढ़ें: शिवसेना के साथ मिलकर लड़ेंगे चुनाव, खबरों पर न दें ध्यान: फडणवीस

खेड़ा ने कहा कि हम किसानों के मुद्दे उठाएंगे। पिछले तीन महीनों में 15 लाख नौकरियां जाने का भी मुद्दा उठाएंगे। शेयर बाजार में लाखों करोड़ रुपये डूबने का मुद्दा भी जनता के बीच ले जाएंगे। उन्होंने कहा कि झारखंड की जनता भी चुनाव का इंतजार कर रही थी। जो राज्यों में एक साथ चुनाव करा नहीं पाते वो एक राष्ट्र, एक चुनाव की बात कर रहे हैं।  खेड़ा ने कहा कि महाराष्ट्र में किसान परेशान हैं। आत्महत्या का दौर विकराल स्थिति में है। वो सरकार बदलने का इंतजार कर रहे हैं। हरियाणा में कानून व्यवस्था खत्म हो चुकी है। वहां भी लोग भाजपा सरकार को बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी में हैं। 

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने शनिवार को घोषणा की कि महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव 21 अक्टूबर को होंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि दोनों राज्यों में मतों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी। महाराष्ट्र में 288 सदस्यों वाली विधानसभा का कार्यकाल नौ नवंबर को खत्म हो रहा है, जबकि 90 सदस्यों वाली हरियाणा विधानसभा का कार्यकाल दो नवंबर को खत्म होगा।

इसे भी पढ़ें: 64 सीटों पर भी 21 अक्टूबर को होंगे उपचुनाव, यहां देखें किस राज्य की कितनी सीटों पर होगा मतदान

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की गिरफ्तारी का हवाला देते हुए खेड़ा ने कहा कि एक तरफ एक पूर्व केंद्रीय मंत्री को बिना साक्ष्य के गिफ्तार कर रखा है, लेकिन दूसरी तरफ वो लड़की के साथ बलात्कार के आरोपी अपने पूर्व मंत्री को बचाने की कोशिश करते हैं। उन्होंने दावा किया कि भाजपा सरकार को लगता है कि संस्थाएं इनकी गुलाम हो गयी हैं जबकि संस्थाएं जनता की गुलाम होनी चाहिए। इनकी सरकार में उल्टी गंगा बह रही है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।