गुजरात में चुनाव लड़ेगी AIMIM, असदुद्दीन ओवैसी बोले- हमें मिलेगी कामयाबी

गुजरात में चुनाव लड़ेगी AIMIM, असदुद्दीन ओवैसी बोले- हमें मिलेगी कामयाबी

असदुद्दीन ओवैसी ने आज ऐलान कर दिया है कि उनकी पार्टी गुजरात में विधानसभा का चुनाव लड़ेगी। हालांकि उनकी पार्टी गुजरात में कितने सीटों पर चुनाव लड़ेगी इसको लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हो सका है।

गुजरात में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी अपनी तैयारियों को शुरू कर दिया है। गुजरात में वैसे तो मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच ही है लेकिन आम आदमी पार्टी और असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम ने इस बार के चुनाव को दिलचस्प बनाने के लिए मैदान में उतरने की तैयारी कर चुकी है। असदुद्दीन ओवैसी ने आज ऐलान कर दिया है कि उनकी पार्टी गुजरात में विधानसभा का चुनाव लड़ेगी। हालांकि उनकी पार्टी गुजरात में कितने सीटों पर चुनाव लड़ेगी इसको लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हो सका है।

इसे भी पढ़ें: ज्ञानवापी मामले में अदालत को अपना काम करने देना चाहिए, नेता विवाद में कूदेंगे तो तनाव बढ़ेगा

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक ओवैसी ने कहा कि गुजरात में हम अच्छी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। हमें कामयाबी मिलेगी। हमारी अच्छी तैयारी है। कितनी सीटों पर लडेंगे और कहां पर लड़ेंगे। उसपर जब फ़ैसला होगा तो हमारे गुजरात के अध्यक्ष आपको बता देंगे। खबर के मुताबिक के एक-दो दिन में असदुद्दीन ओवैसी गुजरात दौरे पर भी पहुंच सकते हैं। दावा किया जा रहा है कि असदुद्दीन ओवैसी वडगाम में एक जनसभा को संबोधित कर सकते हैं। वडगाम से ही जिग्नेश मेवानी विधायक हैं। यह दलित के लिए रिजर्व सीट है। लेकिन यहां मुस्लिम वोटों की संख्या 70 से 75 हजार के बीच है।

इसे भी पढ़ें: हमने बाबरी मस्जिद को खोया है, दूसरी मस्जिद नहीं खोएंगे: ओवैसी ने हुकूमत को सरेआम दी चेतावनी

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ने बिहार, बंगाल, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भी विधानसभा का चुनाव लड़ा था। हालांकि बिहार के अलावा ओवैसी की पार्टी को कहीं और कामयाबी नहीं मिल सकी है। लेकिन गुजरात में ओवैसी को काफी उम्मीदें हैं। गुजरात में कुछ ऐसी सीटें भी है जहां मुस्लिम वोटों की संख्या अधिक है और उन सीटों पर असदुद्दीन ओवैसी अपने उम्मीदवार उतार सकते हैं। गुजरात में हाल में ही संपन्न हुए निकाय चुनाव में ओवैसी की पार्टी ने कुछ सीटों पर जीत हासिल की थी जिसकी वजह से उनका आत्मविश्वास बढ़ा हुआ है। हालांकि यह बात भी सही है कि पिछले 1 सालों में गुजरात में ओवैसी की एआईएमआईएम से कई सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...