विश्व पर्यावरण दिवस पर बोले नायडू, वायु प्रदूषण आधुनिक जीवन शैली का अभिशाप है

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 5 2019 2:11PM
विश्व पर्यावरण दिवस पर बोले नायडू, वायु प्रदूषण आधुनिक जीवन शैली का अभिशाप है
Image Source: Google

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि प्रकृति स्वयंभू है, सनातन है, शाश्वत है, मनुष्य स्वयं इस विहंगम प्रकृति का अंग है। प्रकृति सम्मत विकास ही मानव संस्कृति है। पर्यावरण और प्रकृति के ह्रास से सामाजिक विकृतियां जन्म लेती हैं।

नयी दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बुधवार को वायु प्रदूषण को आधुनिक जीवन शैली का अभिशाप बताते हुये देशवासियों से पर्यावरण संरक्षण की अपील की है। नायडू ने विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर अपने संदेश में कहा, ‘विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आग्रह करता हूं कि पर्यावरण का संरक्षण करें, उसे प्रदूषण से बचाएं। वायु प्रदूषण हमारी आधुनिक जीवनशैली का अभिशाप है।’

इसे भी पढ़ें: भगवान वेंकटेश्वर मंदिर में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने की पूजा

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘प्रकृति स्वयंभू है, सनातन है, शाश्वत है, मनुष्य स्वयं इस विहंगम प्रकृति का अंग है। प्रकृति सम्मत विकास ही मानव संस्कृति है। पर्यावरण और प्रकृति के ह्रास से सामाजिक विकृतियां जन्म लेती हैं।’ उल्लेखनीय है कि इस वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस की थीम वायु प्रदूषण को परास्त करना है। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story