अखिलेश का योगी पर तंज, जनता के भेजने से पहले ही भाजपा ने उन्हें गोरखपुर भेज दिया

अखिलेश का योगी पर तंज, जनता के भेजने से पहले ही भाजपा ने उन्हें गोरखपुर भेज दिया

अखिलेश यादव ने कहा कि जनता अपना मन बना चुकी है। इस बार समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। समाजवादी गठबंधन के साथ 80 फ़ीसदी जनता है। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि आप भाजपा का कोई नेता समाजवादी पार्टी में शामिल नहीं होगा।

उत्तर प्रदेश चुनाव को ध्यान में रखते हुए पार्टियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार चल रहा है। इसी कड़ी में आज भाजपा की पहली सूची आ गई। भाजपा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर शहर से उम्मीदवार बताया है। इसी को लेकर अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री पर तंज कसा है। अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी को अब गोरखपुर में ही रहना पड़ेगा। भाजपा ने पहले ही मुख्यमंत्री योगी को उनके घर गोरखपुर भेज दिया है। अखिलेश यादव ने कहा कि कभी कहते थे मथुरा से लड़ेंगे, कभी अयोध्या से तो कभी प्रयागराज से लड़ने की बात करते थे। मुझे इस बात की खुशी है कि BJP ने उन्हें (योगी आदित्यनाथ) अपने घर भेज दिया। अब मुझे लगता है कि गोरखपुर में ही उन्हें रहना पड़ेगा अब वहां से वापस आने की ज़रूरत नहीं है।

अखिलेश यादव ने कहा कि जनता अपना मन बना चुकी है। इस बार समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। समाजवादी गठबंधन के साथ 80 फ़ीसदी जनता है। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि आप भाजपा का कोई नेता समाजवादी पार्टी में शामिल नहीं होगा। अखिलेश यादव ने दावा किया कि हम पॉजिटिव पॉलिटिक्स करते हैं नेगेटिव नहीं करते हैं। अखिलेश यादव ने दावा किया कि जल्द ही उनकी पार्टी का मैनिफेस्टो आएगा। उन्होंने कहा कि हमारा मेनिफेस्टो प्रोग्रेसिव होगा। बीजेपी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि यह पार्टी हिट विकेट हो चुकी है। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश हर वर्ग के लोगों को जोड़ने की है।हमने अपनी पार्टी की कई सीटों पर टिकटों का त्याग करके गठबंधन किया है।

इसे भी पढ़ें: यूपी चुनाव के लिए भाजपा की पहली सूची जारी, गोरखपुर शहर से योगी आदित्यनाथ को टिकट, केशव मौर्य भी लड़ेंगे चुनाव

अखिलेश ने दावा किया कि गोरखपुर की सभी सीटों पर समाजवादी पार्टी जीतेगी। त्याग करके हमने गठबंधन किया है। बिजली को लेकर अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर जबरदस्त तरीके से प्रहार किया। उन्होंने कहा कि जितने भी बिजली कारखाने समाजवादी पार्टी की सरकार में बन रहे थे वह अभी भी पूरे नहीं हुए हैं। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने अपने कार्यकर्ताओं से कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कहा। भीम आर्मी से गठबंधन पर उन्होंने कहा कि समजवादी पार्टी से उन्होंने (भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद) जो भी बात की मैंने उनकी बात मानी और रामपुर मनिहरन और गाज़ियाबाद वाली सीटें उनको दी। उन्होंने किसी से फोन पर बात करने के बाद मुझको बताया कि वह चुनाव साथ में नहीं लड़ सकते। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।