BRS की जनसभा में अखिलेश का भाजपा पर तंज, बोले- जो सरकार अपने दिन गिनने लगे तो समझ लो...

Akhilesh in Telangana
ANI
अंकित सिंह । Jan 18, 2023 4:41PM
अपने संबोधन में अखिलेश ने कहा कि कल BJP की कार्यकारिणी बैठक खत्म हुई, उन्होंने कहा कि 400 दिन बाकी है,हमें तो लगता था कि ये सरकार वो है जो दावा करती थी कि हटेगी नहीं लेकिन अब वो स्वयं स्वीकार रहे हैं कि अब 400 दिन है।

तेलंगाना राष्ट्र समिति ने अपने नाम को परिवर्तित कर भारत राष्ट्र समिति कर लिया है। भारत राष्ट्र समिति के ही प्रावधान में आज एक भव्य रैली का आयोजन हुआ है। यह रैली तेलंगाना के खम्मम में हुआ है। इस रैली में विपक्षी दलों के कई नेता शामिल हुए हैं। जानकारी के मुताबिक जनसभा में मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की उपस्थिति में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तथा पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के अलावा केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और सीपीआई महासचिव डी राजा शामिल हुए हैं। इस रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने भाजपा पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि जो सरकार अपने दिन गिनने लगे तो समझ लो ये सरकार 400 दिन बाद रुकने वाली नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: Meghalaya में बोलीं ममता बनर्जी, भाजपा के दो चेहरे, चुनाव के दौरान कहती कुछ है और बाद में करती कुछ और है

अपने संबोधन में अखिलेश ने कहा कि कल BJP की कार्यकारिणी बैठक खत्म हुई, उन्होंने कहा कि 400 दिन बाकी है,हमें तो लगता था कि ये सरकार वो है जो दावा करती थी कि हटेगी नहीं लेकिन अब वो स्वयं स्वीकार रहे हैं कि अब 400 दिन है। जो सरकार अपने दिन गिनने लगे तो समझ लो ये सरकार 400 दिन बाद रुकने वाली नहीं है। दरअसल, राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं से आगामी चुनाव को देखते हुए अभी से ही तैयारी करने की बात कही थी। इसी को अखिलेश यादव ने मुद्दा बनाते हुए भाजपा पर तंज कसा है। इसके साथ ही अखिलश ने कहा कि ये खम्मम वो धरती है जिसने हमेशा इतिहास बनाने का काम किया है। यहां के लोगों ने बड़ी से बड़ी हुकूमत और ताकतें रही होंगी उनके खिलाफ अपनी आवाज उठाने का काम किया है। भाजपा सरकार चुनी हुई सरकारों को परेशान करने का काम कर रही है।

इसे भी पढ़ें: Bharat Jodo Yatra के पंजाब से गुजरते ही पार्टी को लगा झटका, पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने दिया इस्तीफा, BJP में हुए शामिल

केरल के मुख्यमंत्री ने कहा कि आज, हमारे पास एक स्थिति है- एक राजनीतिक गठन जो हमारे राष्ट्रीय स्वतंत्रता संग्राम का हिस्सा नहीं था, देश में सत्ता में है। उन लोगों के अनुयायी जिन्होंने उपनिवेशवादियों से बिना शर्त माफी मांगी थी और शाही ताज की सेवा करने का वादा किया था, आज सत्ता में हैं। उन्होंने आरोप लगया कि हमारी सभी देशी भाषाओं को दरकिनार करते हुए हिंदी को राष्ट्रभाषा के रूप में चित्रित करने का प्रयास किया जा रहा है। अपनी मातृभाषाओं को खत्म कर हिंदी थोपने से देश की अखंडता प्रभावित होगी। 

अन्य न्यूज़