अखिलेश यादव का बयान, तिरंगा यात्रा के नाम पर देश में दंगे करवा सकती है भाजपा

Akhilesh Yadav
ANI
अंकित सिंह । Aug 05, 2022 3:46PM
अखिलेश यादव ने साफ तौर पर कहा कि मोदी सरकार नहीं चाहते कि लोग जन्माष्टमी मनाएं। उन्होंने कहा कि भाजपा का महंगाई से कोई लेना देना नहीं है उसने तो दूध और दही पर जीएसटी पर लगा दिए हैं यदि कोई बाबा भोलेनाथ पर एक पैकेट दूध चढ़ाना चाहे तो उसे कर नहीं देना पड़ेगा। यह सरकार चाहती है कि लोग जन्माष्टमी ना मनाएं।

देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर घर तिरंगा अभियान का आह्वान किया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से लोगों से सोशल मीडिया पर डिस्प्ले पिक्चर में तिरंगा लगाने की भी अपील की गई है जिसका असर भी दिखाई दे रहा है। इन सबके बीच हर घर तिरंगा अभियान को लेकर अखिलेश यादव ने बड़ा बयान दिया है। अखिलेश यादव ने साफ तौर पर कहा कि मैं आगाह करना चाहता हूं कि भाजपा तिरंगा यात्रा के नाम पर दंगे भी करवा सकती हैं। हम सभी ने देखा था कि कासगंज में क्या हुआ था। कैसे भाजपा कार्यकर्ताओं ने तिरंगा यात्रा के नाम पर दंगे किए थे। आपको बता दें कि कासगंज में मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में तिरंगा मोटरसाइकिल रैली निकाल रहे युवकों के साथ झगड़े के बाद 26 जनवरी, 2018 को हिंदू और मुस्लिम समुदायों के बीच हिंसा भड़क गई थी। 

इसे भी पढ़ें: शुक्रवार को पीएम मोदी से मिलेंगी ममता बनर्जी, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से भी करेंगी मुलाकात

अखिलेश यादव ने भाजपा पर तीखा निशाना साधा है। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का इतिहास देखें तो वर्षों तक उसने अपने स्थान पर तिरंगा नहीं लगाया था। अपने बयान में समाजवादी पार्टी प्रमुख ने कहा कि भाजपा हर घर तिरंगा अभियान मना रही है लेकिन देश को यह एहसास करना होगा कि भाजपा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की राजनीतिक शाखा है और हम इतिहास देखें तो आरएसएस में वर्षों तक अपने स्थान पर तिरंगा झंडा नहीं लगाया है। इसके अलावा अखिलेश यादव ने महंगाई को लेकर भी मोदी सरकार पर निशाना साधा। अखिलेश यादव ने साफ तौर पर कहा कि मोदी सरकार नहीं चाहते कि लोग जन्माष्टमी मनाएं। उन्होंने कहा कि भाजपा का महंगाई से कोई लेना देना नहीं है उसने तो दूध और दही पर जीएसटी पर लगा दिए हैं यदि कोई बाबा भोलेनाथ पर एक पैकेट दूध चढ़ाना चाहे तो उसे कर नहीं देना पड़ेगा। यह सरकार चाहती है कि लोग जन्माष्टमी ना मनाएं।

इसे भी पढ़ें: 'हम PM मोदी से नहीं डरते', नेशनल हेराल्ड केस में बोले राहुल गांधी, जो करना है कर लें, कुछ फर्क नहीं पड़ता

दरअसल, अखिलेश यादव समाजवादी नेता जनेश्वर मिश्रा की जयंती पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित करने जनेश्वर मिश्रा पार्क पहुंचे थे। यहां से उन्होंने राज्य की योगी सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने दावा किया कि उत्तर प्रदेश एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था वाला राज्य नहीं बन सकता है। उन्होंने कहा कि पिछ़ड़ी जाति के लोगों, दलितों और मुस्लिमों को भाजपा शासन में सबसे अधिक तकलीफ उठानी पड़ी है। अखिलेश यादव ने कहा कि जब उनकी पार्टी सत्ता में आएगी तो जाति आधारित जनगणना उत्तर प्रदेश में कराई जाएगी। जनेश्वर मिश्रा के बारे में उन्होंने कहा कि जनेश्वर मिश्रा ने अपना पूरा जीवन समाजवादी सिद्धातों पर जिया। उनके जैसा किसी अन्य ने समाजवाद के सिद्धातों को आत्मसात नहीं किया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़