कोरोना काल में डिजिटल हुआ IIT बांबे का Convocation,छात्रों के एनिमेटेड अवतारों को दी गई डिग्रियां

IIT बांबे
निधि अविनाश । Aug 31, 2020 4:18PM
महामारी में डिजीटल का फायदा उठाते हुए आईईटी बॉम्बे ने इस साल कॉन्वोकेशन दिवस समारोह में स्टूडेंट्स को काफी अनोखे तरीके से डिग्रीयां बांटी है।बता दें कि आईईटी बॉम्बे के 62 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब स्टूडेंट्स अपनी डिग्रीयां लेने संस्थान में मौजूद नहीं थेबल्कि वर्चुअल अवतारों में अपनी डिग्रीयां हासिल कर रहे थे।

चीन के वुहान मार्केट से शुरू हुआ कोरोना वायरस के बारे में किसने सोचा था की ये एक दिन महामारी का रूप ले लेगा और पूरी दुनिया में अपना पैर पसार देगा। इस महमारी ने पूरी दुनिया को बिल्कुल बदलकर रख दिया है। न केवल स्कूल बल्कि कॉलेज तक भी पूरी तरह से बंद हो चुके है जिसके कारण अब बच्चों की पढ़ाई भी ऑनलाइन में तब्दील हो गई है। महामारी के इस दौर में पढ़ाई से लेकर घर का राशन तक अब ऑनलाइन हो गया है। भारत जैसे देश जहां डिजीटल का ज्यादा उपयोग नहीं होता है वहीं अब इस महामारी में देश अब डिजीटल में तब्दील हो गया है। इसी बीच अब IIT बॉम्बे ने कुछ ऐसा किया है जिससे सबके होश उड़ गए है। महामारी में डिजीटल का फायदा उठाते हुए आईईटी बॉम्बे ने इस साल कॉन्वोकेशन दिवस समारोह में स्टूडेंट्स को काफी अनोखे तरीके से डिग्रीयां बांटी है। बता दें कि आईईटी बॉम्बे के 62 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब स्टूडेंट्स अपनी डिग्रीयां लेने संस्थान में मौजूद नहीं थे बल्कि वर्चुअल अवतारों में अपनी डिग्रीयां हासिल कर रहे थे।

इसे भी पढ़ें: पुडुचेरी में कोविड-19 के 291 नए मरीज, संक्रमण से अब तक 228 मरीजों ने तोड़ा दम

जानकारी के मुताबकि, पूरा कॉन्वोकेशन समारोह वर्चुअल आयोजित किया गया था जिसमें छात्रों से लेकर डिग्री देने वाले तक का सभी कैरेक्टर एनिमेटेड थे।जब इस वर्चुएल कॉन्वोकेशन की वीडियो सोशल मिडिया पर वायरल होना शुरू हुई तब ऐसा लगा जैसे कोई एनिमेशन मूवी चल रही है। बता दें कि इस वर्चुल कॉन्वोकेशन को  IIT Bombay के ही 20 छात्रों ने तैयार किया था। इसमें एनिमेशन के जरिए दर्शक गैलरी को भी वर्चुअल अवतार में पेश किया था।

इसे भी पढ़ें: IMA ने PM मोदी को लिखा पत्र, कहा- कोरोना में जान गंवाने वाले चिकित्सकों को शहीदों के समतुल्य मानें

आईआईटी मुंबई की ओर से जारी एक बयान में बताया कि महामारी को देखते हुए ये कॉन्वोकेशन समारोह का आयोजन किया गया। इसमें ग्रेजुएशन के स्टूडेंट्स के लिए वीआर मोड में इसका आयोजन किया गया। संस्थान के मुताबिक, वह नहीं चाहते थे कि स्टूडेंट्स पास होने की उपलब्धि की भावना से दूर रहे इसलिए हर छात्र  के लिए डिजिटल अवतार तैयार किया गया। हर अवतार को निदेशक प्रोफेसर सुभाशीष चौधरी के डिजिटल अवतार ने डिग्री प्रमाण पत्र दिया। बता दें कि ये विडियो सोशल मिडिया पर अभी काफी तेजी से वायरल हो रही है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़