किसानों की मांगों के समर्थन में एकजुटता से खड़े हैं सभी दल: राहुल गांधी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2018   19:04
किसानों की मांगों के समर्थन में एकजुटता से खड़े हैं सभी दल: राहुल गांधी

उन्होंने सभा में मौजूद अन्य दलों के नेताओं का जिक्र करते हुये कहा ‘‘हमारी विचारधारा अलग हो सकती है, मगर किसान और युवाओं के भविष्य के लिये हम सब एक हैं।

नयी दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों का कर्ज पूरी तरह से माफ करने और फसल का उचित मूल्य दिलाने के लिये कानून बनाने की मांग का समर्थन करते हुये कहा है कि किसानों की इस मांग के साथ विपक्ष के सभी दल एकजुट हैं। गांधी ने शुक्रवार को किसान आंदोलन के तहत आयोजित संसद मार्च में किसान सभा को संबोधित करते हुये कहा ‘‘प्रधानमंत्री ने कहा था कि सही दाम दिलायेंगे, बोनस मिलेगा, न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ायेंगे। लेकिन आज हालत यह है कि किसान को ना तो फसल का सही दाम मिल रहा है और ना ही कर्ज माफ हो रहा है।’’

उन्होंने सभा में मौजूद अन्य दलों के नेताओं का जिक्र करते हुये कहा ‘‘हमारी विचारधारा अलग हो सकती है, मगर किसान और युवाओं के भविष्य के लिये हम सब एक हैं। मोदी जी और भाजपा से हम कहना चाहते हैं कि अगर हमें कानून बदलना पड़े, मुख्यमंत्री बदलना पड़े या प्रधानमंत्री बदलना पड़े, हम किसान का भविष्य बनाने के लिये एक इंच भी पीछे नहीं हटने वाले हैं।’’ गांधी ने कर्ज माफी की मांग को जायज बताते हुये कहा ‘‘किसान, मोदी जी से अनिल अंबानी का हवाई जहाज नहीं मांग रहा है, किसान सिर्फ यह कह रहा है कि अगर आप अनिल अंबानी को हिंदुस्तान की एयरफोर्स का 30,000 करोड़ रुपया दे सकते हैं, अगर आप अपने 15 मित्रों को 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपये दे सकते हैं, तो हमारी मेहनत के लिए, हमारे खून के लिए, हमारे पसीने के लिए, आपको हमारा कर्जा माफ करके देना ही पड़ेगा।’’ 

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश और मिजोरम में मतदान संपन्न, 75% लोगों ने किया मताधिकार का प्रयोग

उन्होंने किसान के भविष्य और युवाओं के लिये रोजगार को सबसे बड़ा मुद्दा बताते हुये कहा ‘‘पिछले साढ़े चार साल में नरेन्द्र मोदी जी की सरकार ने हिंदुस्तान के 15 सबसे अमीर लोगों का साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये का कर्जा माफ किया है। अब साढ़े बारह लाख करोड़ रुपए जिसे नरेन्द्र मोदी जी, अरुण जेटली जी एनपीए कहते हैं, आने वाले समय़ में वो कर्जा माफ करना चाहते हैं।’’ गांधी ने किसानों की कर्ज माफी का भरोसा दिलाते हुये कहा ‘‘अगर 15 लोगों का साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए कर्जा माफ किया जा सकता है, तो हिंदुस्तान के करोड़ों किसानों का भी कर्जा माफ किया जाएगा।’’ कानून बनाकर किसानों की समस्या का स्थायी समाधान निकाले जाने की मांग का समर्थन करते हुये कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा ‘‘कानून बनाना हो, जो भी करना हो, आप हमें बताईए, जो भी आप कहेंगे, हम आपके साथ खड़े होकर दिखाएंगे।’’

यह भी पढ़ें: अक्टूबर-दिसंबर की टीडीएस रिटर्न भरने की सीमा 31 जनवरी, 2019 तक बढ़ी

किसान सभा में राकांपा के शरद पवार, आप संयोजक अरविंद केजरीवाल, माकपा के सीताराम येचुरी, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी, नेशनल कांफ्रेस के फारुख अब्दुल्ला, भाकपा नेता डी राजा, सपा के धर्मेन्द्र यादव, वरिष्ठ समाजवादी नेता शरद यादव सहित अन्य दलों के नेता भी मौजूद थे। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...