महुधा की रैली में बोले अमित शाह, कांग्रेस ने हिंसा करने वालों का किया समर्थन, बीजेपी ने 2002 के बाद की शांति स्थापित

Amit Shah
@AmitShah
अभिनय आकाश । Nov 25, 2022 6:32PM
अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में खेड़ा जिले के महुधा शहर में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने आरोप लगाया कि गुजरात में कांग्रेस के शासन के दौरान (1995 से पहले) सांप्रदायिक दंगे बड़े पैमाने पर हुए थे।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आरोप लगाया कि असामाजिक तत्व पहले गुजरात में हिंसा में शामिल थे क्योंकि कांग्रेस ने उनका समर्थन किया था। लेकिन 2002 में अपराधियों को "सबक सिखाने" के बाद, उन्होंने ऐसी गतिविधियों को रोक दिया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राज्य में "स्थायी शांति" की स्थापना की। उस वर्ष फरवरी में गोधरा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में आग लगने की घटना के बाद 2002 में गुजरात के कुछ हिस्सों में बड़े पैमाने पर हिंसा देखी गई थी।

इसे भी पढ़ें: अयोध्या में तेजी से चल रहा राम मंदिर निर्माण का कार्य, ट्रस्ट की ओर से जारी की गई ताजा तस्वीरें

अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में खेड़ा जिले के महुधा शहर में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने आरोप लगाया कि गुजरात में कांग्रेस के शासन के दौरान (1995 से पहले) सांप्रदायिक दंगे बड़े पैमाने पर हुए थे। कांग्रेस विभिन्न समुदायों के लोगों को भड़काती थी और जातियों को आपस में लड़ने के लिए। ऐसे दंगों के जरिए कांग्रेस ने अपना वोट बैंक मजबूत किया था और समाज के एक बड़े वर्ग के साथ अन्याय किया था।'

इसे भी पढ़ें: Uniform civil code से लेकर श्रद्धा मर्डर केस तक, जानें अमित शाह ने तमाम सवालों का क्या दिया जवाब

शाह ने दावा किया कि गुजरात में 2002 में दंगे हुए क्योंकि अपराधियों को कांग्रेस से लंबे समय तक समर्थन मिलने के कारण हिंसा में लिप्त होने की आदत हो गई थी। लेकिन 2002 में सबक सिखाने के बाद इन तत्वों ने वह रास्ता (हिंसा का) छोड़ दिया। उन्होंने 2002 से 2022 तक हिंसा में शामिल होने से परहेज किया। बीजेपी ने सांप्रदायिक हिंसा में लिप्त लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करके गुजरात में स्थायी शांति स्थापित की है। 

अन्य न्यूज़