• Pegasus मामले पर बोले अमित शाह, क्रोनोलॉजी समझिये, ये भारत के विकास में विघ्न डालने वालों की रिपोर्ट

अभिनय आकाश Jul 19, 2021 20:02

अमित शाह ने सवाल उठाते हुए पूछा कि बार-बार भारत को नीचा दिखाने में क्या ख़ुशी मिलती है? अपना जनाधार व राजनीतिक महत्व खो चुकी कांग्रेस को इसमें कूदते देखना न तो अप्रत्याशित लगता है और ना ही आश्चर्यजनक। कांग्रेस के पास लोकतंत्र को कुचलने का अच्छा अनुभव है।

पेगासस मामले को लेकर देश की राजनीति गर्मा गई है। विपक्ष की ओर से जहां इस मुद्दो को जोर-शोर से उठाया जा रहा है और इसकी गूंज आज संसद में भी दिखी। कांग्रेस पार्टी की ओर से केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का इस्तीफा मांगा जा रहा है वहीं दूसरी ओर अमित शाह ने सारे मुद्दे को साजिश करार देते कहा है कि कांग्रेस को लोकतंत्र को कुचलने का पुराना अनुभव रहा है। अमित शाह ने कहा कि आज देश के संसद का मानसून सत्र आरंभ हो गया और इस सत्र से लोगों को काफी उम्मीदें हैं। मानसून सत्र सकारात्मक नतीजे देगा। इसके साथ ही शाह ने संसद में आज के घटनाक्रम के बारे में जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस को लोकतंत्र को कुचलने का अनुभव रहा है। । देश के लोकतंत्र को बदनाम करने के लिए मानसून सत्र से ठीक पहले कल देर शाम एक रिपोर्ट आती है, जिसे कुछ वर्गों द्वारा केवल एक ही उद्देश्य के साथ फैलाया जाता है कि कैसे भारत की विकास यात्रा को पटरी से उतारा जाए और अपने पुराने नैरेटिव के तहत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत को अपमानित करने के लिए जो कुछ भी करना पड़े किया जाए।

इसे भी पढ़ें: पेगासस जासूसी मुद्दे पर स्पष्टीकरण दें नरेंद्र मोदी और अमित शाह: शिवसेना

कांग्रेस के पास लोकतंत्र को कुचलने का अच्छा अनुभव

अमित शाह ने सवाल उठाते हुए पूछा कि बार-बार भारत को नीचा दिखाने में क्या ख़ुशी मिलती है? अपना जनाधार व राजनीतिक महत्व खो चुकी कांग्रेस को इसमें कूदते देखना न तो अप्रत्याशित लगता है और ना ही आश्चर्यजनक। कांग्रेस के पास लोकतंत्र को कुचलने का अच्छा अनुभव है। लोकतंत्र एवं विकास की अवरोधक कांग्रेस खुद आंतरिक कलह से जूझ रही है इसलिए वो संसद में आने वाले किसी भी प्रगतिशील कार्य को पटरी से उतारने की हर सम्भव कोशिश कर रही है।

क्रोनोलोजी समझिये, ये भारत के विकास में विघ्न डालने वालो की रिपोर्ट

अमित शाह ने कहा कि आज मैं गंभीरता से कहना चाहता हूं- इस तथाकथित रिपोर्ट के लीक होने का समय और फिर संसद में ये व्यवधान...आप क्रोनोलोजी समझिये! यह भारत के विकास में विघ्न डालने वालो की भारत के विकास के अवरोधकों के लिए एक रिपोर्ट है। कुछ विघटनकारी वैश्विक संगठन हैं जो भारत की प्रगति को पसंद नहीं करते हैं। ये अवरोधक भारत के वो राजनीतिक षड्यंत्रकारी हैं जो नहीं चाहते कि भारत प्रगति कर आत्मनिर्भर बने। भारत की जनता इस क्रोनोलोजी और रिश्ते को बहुत अच्छे सेसमझती है।