अनिल देशमुख ने उद्धव ठाकरे को लिखा पत्र, कहा- मेरे खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की हो जांच

Anil Deshmukh
गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने माननीय मुख्यमंत्री से मेरे खिलाफ परमबीर सिंह के आरोपों की जांच कराने का आदेश देने की मांग की है ताकि स्थिति साफ हो। अगर माननीय मुख्यमंत्री जांच का आदेश देते हैं तो मैं इसका स्वागत करूंगा। सत्यमेव जयते।’’

मुंबई। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बृहस्पतिवार को कहा कि अगर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा उनके खिलाफ लगाए भ्रष्टाचार के आरोपों पर किसी भी जांच का आदेश देते हैं तो वह इसका स्वागत करेंगे। देशमुख ने आधी रात को ट्वीट कर यह बात कही और ठाकरे को 21 मार्च को लिखे पत्र की प्रति भी साझा की जिसमें उन्होंने सिंह के आरोपों की तुरंत जांच कराने की मांग की थी। देशमुख ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने माननीय मुख्यमंत्री से मेरे खिलाफ परमबीर सिंह के आरोपों की जांच कराने का आदेश देने की मांग की है ताकि स्थिति साफ हो। अगर माननीय मुख्यमंत्री जांच का आदेश देते हैं तो मैं इसका स्वागत करूंगा। सत्यमेव जयते।’’ 

इसे भी पढ़ें: रश्मि शुक्ला ने अनुमति के बिना फोन टैप किए, आव्हाड बोले- मंत्रिमंडल की बैठक में प्रकट की गई नाराजगी 

देशमुख ने अपने पत्र में कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों में ‘‘कोई सच्चाई’’ नहीं है और उन्होंने मामले में जांच कराने की मांग की। सिंह ने 20 मार्च को ठाकरे को आठ पृष्ठों वाला पत्र लिखा जिससे महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया। पत्र में दावा किया गया है कि देशमुख ने पुलिस अधिकारियों को बार तथा होटलों से हर महीने 100 करोड़ रुपये इकट्ठा करने के लिए कहा था। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के पुणे जिले और हरियाणा में कोविड-19 के मद्देनजर होली समारोहों पर पाबंदी 

मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली कार में विस्फोटक सामग्री होने के मामले में विवादों में घिरी राज्य सरकार ने 17 मार्च को परमबीर सिंह का तबादला कर दिया था। इसके एक दिन बाद देशमुख ने कहा था कि सिंह के कुछ सहकर्मियों ने ‘‘गंभीर और अक्षम्य गलतियां’’ की जिसके बाद उनका तबादला किया गया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़