सिग्नेचर ब्रिज पर चल रहा है मौत का सफर, लगातार बढ़ रही है मरने वालों की संख्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2018   14:13
सिग्नेचर ब्रिज पर चल रहा है मौत का सफर, लगातार बढ़ रही है मरने वालों की संख्या

दिल्ली के नवनिर्मित सिग्नेचर ब्रिज पर शनिवार को एक और हादसा हुआ। बाइक फिसलने से 24 साल के एक युवक की मौत हो गई जबकि उसका एक रिश्तेदार घायल हो गया। शुक्रवार को भी सिग्नेचर ब्रिज पर एक हादसा हुआ था

नयी दिल्ली। दिल्ली के नवनिर्मित सिग्नेचर ब्रिज पर शनिवार को एक और हादसा हुआ। बाइक फिसलने से 24 साल के एक युवक की मौत हो गई जबकि उसका एक रिश्तेदार घायल हो गया। शुक्रवार को भी सिग्नेचर ब्रिज पर एक हादसा हुआ था जिसमें दो मेडिकल छात्रों की मौत हो गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मृतक की पहचान शंकर के रूप में हुई है। वह बाइक चला रहा था और उसका रिश्तेदार दीपक (17) पीछे बैठा था। उन्होंने बताया कि शंकर और दीपक नागलोई से उत्तर-पूर्व जिले की ओर जा रहे थे। तिमारपुर पुलिस स्टेशन को इस दुर्घटना के बारे में सुबह आठ बजकर 20 मिनट पर सूचित किया गया।

पुलिस ने बताया कि पीड़ितों को निकट के एक अस्पताल में ले जाया गया जहां शंकर को मृत घोषित कर दिया गया जबकि उसके चचेरे भाई दीपक को घुटने में चोट पहुंची। अधिकारी ने बताया कि शंकर गाजियाबाद का रहने वाला था और सेल्समेन के रूप में काम करता था। वह अविवाहित था। वहीं, दीपक शालीमार बाग का रहने वाला है। उसने पुलिस को बताया कि वह दोनों हेलमेट पहने हुए थे लेकिन बाइक फिसलने के बाद शंकर की हेलमेट खुल कर गिर गई और उसका सिर डिवाइडर से जा टकराया। इस नवनिर्मित ब्रिज पर दो दिन के भीतर यह दूसरा हादसा है। कुछ लोगों को इस पुल के किनारे बनी हुई बाउंड्री पर चढ़कर सेल्फी लेते हुए भी देखा गया था। इस पुल का उद्घाटन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चार नवंबर को किया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...