राजस्थान में कोरोना संक्रमण से एक और व्यक्ति की मौत, अब तक 33 लोगों ने गंवाई जान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   14:53
राजस्थान में कोरोना संक्रमण से एक और व्यक्ति की मौत, अब तक 33 लोगों ने गंवाई जान

राजस्थान के अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) रोहित कुमार सिंह ने बताया कि जयपुर के रामगंज इलाके की 65 वर्षीय महिला की शनिवार को मौत हो गई। कोरोना वायरस से संक्रमित इस महिला को 23 अप्रैल को यहां एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह ह्रदय संबंधी रोग से भी पीड़ित थी।

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से शनिवार को एक महिला की मौत हो गई और राज्य में संक्रमण के 27 नये मामले सामने आने के बाद इस घातक वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,061 हो गयी। राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) रोहित कुमार सिंह ने बताया कि जयपुर के रामगंज इलाके की 65 वर्षीय महिला की शनिवार को मौत हो गई। कोरोना वायरस से संक्रमित इस महिला को 23 अप्रैल को यहां एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह ह्रदय संबंधी रोग से भी पीड़ित थी। उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के बाद 33 लोगों की मौत हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान में कोरोना के 25 और पॉजिटिव केस सामने आए, अब तक 2,059 व्यक्ति संक्रमित 

अधिकारियों का कहना है कि ज्यादातर मामलों में रोगी किसी न किसी अन्य गंभीर बीमारी से भी पीड़ित थे। इसके अलावा, कोरोना वायरस संक्रमण के 27 नये मामले शनिवार दोपहर दो बजे तक सामने आए। इनमें अजमेर में आठ, झालावाड़ और जोधपुर में पांच-पांच, कोटा में चार, धौलपुर में दो और जयपुर, भरतपुर एवं डूंगरपुर में सामने आया एक-एक नया मामला शामिल है। राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों में दो इतालवी नागरिकों के अलावा 61 वे लोग भी हैं जिन्हें ईरान से लाकर जोधपुर एवं जैसलमेर में सेना के आरोग्य केंद्रों में ठहराया गया है। राज्यभर में 22 मार्च से बंद लागू है और अनेक थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा हुआ है।

इसे भी देखें : केंद्रीय टीम को लेकर Bengal में बड़ा बवाल, क्या है केंद्र का Lockdown Exit Plan 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।