• CAA विरोधी प्रदर्शन: जमानत के लिए अदालत पहुंचे भीम आर्मी प्रमुख

न्यायिक हिरासत में कैद आजाद ने कहा है कि प्राथमिकी में कहा गया है कि उन्होंने जामा मस्जिद के पास मौजूद भीड़ को दिल्ली गेट मार्च करने के लिए उकसाया और हिंसा में शामिल रहे, लेकिन इस संबंध में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है।

नयी दिल्ली। पुरानी दिल्ली के दरियागंज इलाके में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हिंसा मामले में गिरफ्तार भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने सोमवार को जमानत के लिए दिल्ली की अदालत में याचिका में दायर की। न्यायिक हिरासत में कैद आजाद ने कहा है कि प्राथमिकी में कहा गया है कि उन्होंने जामा मस्जिद के पास मौजूद भीड़ को दिल्ली गेट मार्च करने के लिए उकसाया और हिंसा में शामिल रहे, लेकिन इस संबंध में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है। अदालत इस मामले में मंगलवार को सुनवाई करेगी।

उल्लेखनीय है कि भीम आर्मी के प्रमुख को दिल्ली की अदालत ने 21 दिसंबर को न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। आजाद के संगठन ने 20 दिसंबर को पुलिस की अनुमति के बिना सीएए के खिलाफ जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक मार्च का आयोजन किया था।