दिल्ली के मंगोलपुरी और NFC में चला MCD का बुलडोजर, हिरासत में लिए गए AAP विधायक, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

दिल्ली के मंगोलपुरी और NFC में चला MCD का बुलडोजर, हिरासत में लिए गए AAP विधायक, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

आम आदमी विधायक मुकेश अहलावत ने कहा कि जब लोगों ने क्षेत्र खाली कर दिया है, तो वे (नॉर्थ एमसीडी) बुलडोजर का इस्तेमाल कर असुविधा क्यों पैदा कर रहे हैं। हम इसके खिलाफ हैं और इसे रोका जाना चाहिए। उन्हें पहले यह साबित करना होगा कि वहां अतिक्रमण है।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) का अतिक्रमण विरोधी अभियान जारी है। इसी बीच एमसीडी का बुलडोजर मंगोलपुरी और न्यू फ्रेड्स कॉलोनी में अभियान चलाया गया। जिसका वीडियो सामने आया है। इसी बीच आम आदमी विधायक मुकेश अहलावत बुलडोजर के सामने लेट गए। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। 

इसे भी पढ़ें: अमानतुल्लाह खान के खिलाफ SDMC ने दर्ज कराई शिकायत, अतिक्रमण विरोधी अभियान में बाधा पहुंचाने का आरोप 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आम आदमी विधायक मुकेश अहलावत ने कहा कि जब लोगों ने क्षेत्र खाली कर दिया है, तो वे (नॉर्थ एमसीडी) बुलडोजर का इस्तेमाल कर असुविधा क्यों पैदा कर रहे हैं। हम इसके खिलाफ हैं और इसे रोका जाना चाहिए। उन्हें पहले यह साबित करना होगा कि वहां अतिक्रमण है।

डीसीपी समीर शर्मा ने बताया कि अभी यहां पर अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है और यहां एक विधायक मुकेश अहलावत भी आए थे जिन्हें समझाया गया है और हमने उन्हें कुछ समय के लिए डिटेन किया है ताकि कार्रवाई में किसी तरह की कोई बाधा नहीं हो। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में चल रहे बुलडोजर पर तेजस्वी ने उठाए सवाल, जवाब में बोले अठावले- हटाया जा रहा अवैध अतिक्रमण 

इससे पहले शाहीन बाग में एमसीडी का अतिक्रमण विरोधी अभियान देखने को मिला था। जहां पर भारी हंगामा हुआ था और एमसीडी अधिकारियों को वापस लौटना पड़ा था। एमसीडी अधिकारियों के बुलडोजर के साथ पहुंचते ही स्थानीय लोगों के साथ-साथ, आम आदमी पार्टी, कांग्रेस व एआईएमआईएम कार्यकर्ताओं का विरोध सहना पड़ा था और कुछ लोग तो बुलडोजर के ऊपर भी चढ़ गए थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।