अनुराग ठाकुर का सवाल, इत्र कारोबारी के खिलाफ कार्रवाई पर सपा को क्यों लग रही है मिर्ची

Anurag Thakur
इत्र कारोबारी से सपा के रिश्ते नहीं होने संबंधी अखिलेश के बयान से संबंधित सवाल पर उन्होंने कहा, इत्र कारोबारी से सपा के रिश्ते नहीं हैं तो सपा को मिर्ची क्यों लग रही है।
बलिया (उप्र)। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर हमला करते हुए करोड़ों रुपये की बेनामी संपत्ति बरामद होने से सुर्खियों में आए इत्र कारोबारी के साथ उनके संबंध होने का दावा किया। सूचना एवं प्रसारण मामलों के साथ ही खेल मामलों के भी मंत्री ठाकुर ने मंगलवार को जिले के नरही क्षेत्र में अखिल भारतीय आमंत्रण प्राइजमनी फुटबाल प्रतियोगिता के समापन समारोह से इतर संवाददाताओं से बातचीत में अखिलेश पर इत्र व्यवसायी पीयूष जैन के ठिकानों पर पिछले दिनों हुई छापेमारी को लेकर जमकर निशाना साधा। इत्र कारोबारी से सपा के रिश्ते नहीं होने संबंधी अखिलेश के बयान से संबंधित सवाल पर उन्होंने कहा, इत्र कारोबारी से सपा के रिश्ते नहीं हैं तो सपा को मिर्ची क्यों लग रही है। अखिलेश यादव अब क्यों बोल रहे हैं कि अभी आयकर विभाग की छापेमारी हुई है। इसके बाद ईडी व अन्य विभागों की छापेमारी होगी। ठाकुर ने कहा कि अखिलेश को इत्र कारोबारी के दर्द का एहसास तो है लेकिन जिस गरीब के विकास पर खर्च होने वाले कर का धन चुराया गया है, उस गरीब के दर्द का एहसास सपा को नहीं है तथा इससे स्पष्ट हो जाता है कि इत्र कारोबारी से किसकी सांठगांठ है। उन्होंने कहा, सपा का दर्द छुपाए नहीं छुप रहा है। 

इसे भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश का बड़ा ऐलान, साइकिल चालकों की हादसे में मौत पर देंगे 5 लाख रुपए का मुआवजा

अखिलेश यादव जिस इत्र की बात करते रहे हैं, उसकी खुशबू दुनिया में इस तरह पहुँची है कि इत्र कारोबारी से उनके रिश्ते छिपाए नहीं छिप पा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि इस छापेमारी का उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि पर्याप्त जानकारी होने पर ही विभाग ऐसे मामले में कार्रवाई करता है और विभाग इस तरह की कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़