गहलोत की गुर्जरों से अपील, धरने से उठो और सरकार से बात करो

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 11 2019 6:27PM
गहलोत की गुर्जरों से अपील, धरने से उठो और सरकार से बात करो
Image Source: Google

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि इस मामले में राज्य सरकार से जो हो सकता था वह सरकार ने कर दिया है और आंदोलनकारियों को अब अपनी मांग केंद्र के समक्ष रखनी चाहिए।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को आंदोलनकारी गुर्जर नेताओं से फिर अपील की है कि वह धरना छोड़कर सरकार से बातचीत करें। उन्होंने कहा कि इस मामले में राज्य सरकार से जो हो सकता था वह सरकार ने कर दिया है और आंदोलनकारियों को अब अपनी मांग केंद्र के समक्ष रखनी चाहिए। उल्लेखनीय है कि सरकारी सेवाओं में व शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर शुक्रवार की शाम से आंदोलन पर हैं जिससे कई रेलमार्ग व सड़क मार्ग बंद हैं। इस बारे में पूछे जाने पर गहलोत ने कहा, ‘सरकार पहले की तरह उनकी मदद करने को तैयार है। पहले भी पांच साल हमने कोई कमी नहीं रखी। बकायदा संवाद रखा और जो कर सकते थे किया और उसका फायदा भी आज गुर्जर समाज को मिल रहा है।’

इसे भी पढ़ें: करौली व धौलपुर में धारा 144, गहलोत ने कहा- बातचीत के लिए आगे आएं गुर्जर नेता

गहलोत ने कहा कि पूरा गुर्जर समाज जानता है कि पिछली बार जब मैं मुख्यमंत्री था तो एक प्रतिशत (आरक्षण) का जो फैसला किया उसका फायदा सैंकडों युवाओं को मिला। हमारे हाथ में जो था हमने कर दिया। पांच प्रतिशत की मांग हमने पूरी की थी जिसे उच्च न्यायलय ने उसे स्वीकार नहीं किया। पिछली भाजपा सरकार ने विधानसभा में कानून पारित कर उसे अधिसूचित किया गया लेकिन वह भी मंजूर नहीं हुआ । अब ये लोग अपनी मांग केंद्र के सामने रखें तो यह उन पर है कि वे क्या फैसला करते हैं।

इसे भी पढ़ें: गुर्जरों के आंदोलन पर बोले गहलोत, आरक्षण की मांग का ज्ञापन PM को सौंपे

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं उनसे अपील करूंगा कि आप धरने से उठो, सरकार से वार्ता करो और सरकार के स्तर पर जो भी संभव होगा, मैं यह विश्वास दिलाता हूं कि उसमें कोई कमी नहीं आएगी। इसके साथ ही गहलोत ने आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा के कुछ नेताओं के भड़काऊ बयानों की आलोचना की और कहा कि यह उनकी फितरत है और ऐसा कर के ही वे लोग यहां तक पहुंचे हैं।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video