अरविंद केजरीवाल का बयान, दिल्ली में ऑक्सीजन भंडारण क्षमता बढ़ायी गयी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 10, 2021   14:17
  • Like
अरविंद केजरीवाल का बयान, दिल्ली में ऑक्सीजन भंडारण क्षमता बढ़ायी गयी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारी के तौर पर शहर में अभी तक कुल 171 मीट्रिक टन की क्षमता वाले तीन ऑक्सीजन भंडार संयंत्र लगाए गए हैं।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारी के तौर पर शहर में अभी तक कुल 171 मीट्रिक टन की क्षमता वाले तीन ऑक्सीजन भंडार संयंत्र लगाए गए हैं। उन्होंने सिरसपुर में स्थित ऑक्सीजन भंडार संयंत्र का दौरा करने के बाद कहा कि यहां 57 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भंडारण क्षमता का क्रायोजेनिक टैंक लगाया जा रहा है और साथ ही यहां हर दिन 12.5 टन की क्षमता वाला ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र भी बना रहे हैं। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘हमने कुल 171 एमटी क्षमता के साथ प्रत्येक 57 एमटी क्षमता वाले तीन ऑक्सीजन भंडारण संयंत्र अभी तक लगा दिए हैं।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली दौरे पर योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से करेंगे मुलाकात

युद्ध स्तर पर काम चल रहा है। उन लोगों का आभारी हूं जिनकी वजह से यह संभव हुआ है।’’ गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल और मई में मामले बढ़ने के कारण ऑक्सीजन की भारी किल्लत का सामना करना पड़ा था। जीवनदायिनी गैस की कमी के कारण शहर के दो अस्पतालों में कुछ कोविड-19 मरीजों की मौत हो गयी थी।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस को ‘बड़ी सर्जरी’ की जरूरत, सिर्फ विरासत पर निर्भर नहीं रहना चाहिए: मोइली

मुख्यमंत्री ने पिछले हफ्ते कहा था कि दिल्ली सरकार अगले कुछ हफ्तों में 25 ऑक्सीजन टैंक खरीदेगी और 64 ऑक्सीजन संयंत्र लगाएगी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि शहर में ऑक्सीजन का कोई संकट पैदा न हो जैसा कि दूसरी लहर के दौरान हुआ था। साथ ही वह भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए 420 टन की ऑक्सीजन भंडारण क्षमता भी बना रही है। केजरीवाल ने कहा था कि सरकार 150 टन की क्षमता वाला ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र बनाने के लिए आईजीएल से भी बात कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept