कोविड-19 संकट के दौरान कड़ी मेहनत के प्रोत्साहन स्वरूप आशा कर्मियों के वेतन में हो सकती है बढ़ोतरी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 25, 2020   13:00
कोविड-19 संकट के दौरान कड़ी मेहनत के प्रोत्साहन स्वरूप आशा कर्मियों के वेतन में हो सकती है बढ़ोतरी

स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याणा विभाग के एक अधिकारी ने बुधवार को कहा, ‘‘ राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने उनकी वेतन वृद्धि के प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया है, जिस पर मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा की जाएगी।

मुम्बई। कोविड-19 संकट के दौरान कड़ी मेहनत के प्रोत्साहन के रूप में महाराष्ट्र में ‘आशा’ के 65,000 कर्मियों का मासिक वेतन 2,000 रुपये बढ़ाया जा सकता है। एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि ‘मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता’ (आशा) कर्मियों को अभी 10,000 रुपये प्रति माह वेतन मिलता है। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस के खतरे के कारण PGA चैंपियनशिप से हटे पांच खिलाड़ी

स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याणा विभाग के एक अधिकारी ने बुधवार को कहा, ‘‘ राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने उनकी वेतन वृद्धि के प्रस्ताव को अंतिम रूप दे दिया है, जिस पर मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा की जाएगी। अगर प्रस्ताव पारित हो गया तो आशा कर्मियों के मासिक वेतन में दो हजार रुपये की वृद्धि होगी।’’ कोविड-19 संकट के दौरान आशा कर्मियों को शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में निगरानी का काम सौंपा गया है। राज्य सरकार अब उन्हें उनके काम के लिए प्रोत्साहन देने की योजना बना रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।