• खत्म होगा सीमा विवाद! असम सरकार ने वापस ली ट्रैवल एडवाइजरी, CM जोरमथंगा ने कहा- थैंक्यू

अभिनय आकाश Aug 05, 2021 21:22

सम सरकार ने एक आदेश जारी कर कहा कि असम और मिजोरम की सरकारों के प्रतिनिधियों द्वारा आज जारी किए गए संयुक्त बयान के बाद असम के लोगों को मिजोरम की यात्रा न करने की सलाह वाली एडवाइजरी वापस लिया जाता है।

असम और मिजोरम के बीच का विवाद अब सुलह की ओर बढ़ता दिखाई दे रहा है। पहले तो दोनों राज्यों की ओर से स्थाई समाधान निकालने पर सहमति बनी। अब असम सरकार की ओर से एक बड़ा फैसला लिया गया। जिसके बाद मिजोरम के सीएम ने ट्विट करते हुए धन्यवाद भी कह दिया। दरअसल, असम सरकार की तरफ से अपने नागरिकों को मिजोरम जाने को लेकर जारी की गई एडवाइजरी को वापस ले लिया गया। गुरुवार शाम को असम सरकार ने एक आदेश जारी कर कहा कि असम और मिजोरम की सरकारों के प्रतिनिधियों द्वारा आज जारी किए गए संयुक्त बयान के बाद असम के लोगों को मिजोरम की यात्रा न करने की सलाह वाली एडवाइजरी वापस लिया जाता है।

इसे भी पढ़ें: सीमा विवाद पर मिजोरम और असम ने की वार्ता, सौहार्द्रपूर्ण तरीके से मुद्दे का समाधान करने पर सहमत हुए

 मिजोरम के सीएम ने कहा- धन्यवाद

असम सरकार के फैसले के बाद मिजोरम के मुख्यमंत्री ज़ोरमथांगा ने धन्यवाद दिया है। मिजोरम के सीएम ने ट्वीट करते हुए कहा कि असम सरकार ने पहले जारी की गई यात्रा सलाह को वापस ले लिया, जिसमें असम के लोगों को मिजोरम की यात्रा न करने की सलाह दी गई थी। असम की सरकार को धन्यवाद।

दोनों राज्यों की तरफ से संयुक्त बयान जारी

इससे पहले असम और मिजोरम सरकारों के प्रतिनिधियों ने वार्ता की और अंतरराज्यीय सीमा विवाद का सौहार्द्रपूर्ण तरीके से समाधान करने के लिए सहमत हुए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि असम सरकार ने मिजोरम के खिलाफ जारी एक परामर्श भी रद्द करने का फैसला किया है। दोनों राज्यों द्वारा जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया है, ‘‘दोनों राज्य सरकारें अंतर-राज्यीय सीमा क्षेत्रों में शांति कायम रखने को सहमत हुई है और इस सिलसिले में भारत सरकार द्वारा तटस्थ (न्यूट्रल) बल की तैनाती का स्वागत किया।’’ इसमें कहा गया है, ‘‘इस उद्देश्य के लिए, दोनों राज्य अपने-अपने वन और पुलिस बलों को गश्त करने, वर्चस्व स्थापित करने, प्रवर्तन के लिए नहीं भेजेंगे। साथ ही, हाल के समय में दोनों राज्यों के पुलिस बलों के बीच जिन स्थानों पर टकराव हुआ था उन इलाकों में बलों की नये सिरे से तैनाती नहीं की जाएगी।