टिड्डियों के हमले को लेकर दिल्ली में चलाया गया जागरूकता अभियान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 29, 2020   18:45
टिड्डियों के हमले को लेकर दिल्ली में चलाया गया जागरूकता अभियान

धिकारियों ने कहा कि विकास विभाग की कृषि इकाई ने कृषि विज्ञान केंद्र के अधिकारियों के सहयोग से उत्तरी दिल्ली के दरयापुर गांव में एक प्रशिक्षण और प्रदर्शन शिविर का आयोजन किया।

नयी दिल्ली। दिल्ली के विकास मंत्री गोपाल राय के निर्देशों पर अमल करते हुए अधिकारियों ने टिड्डियों के संभावित हमले के प्रति किसानों को जागरूक करने के लिए शुक्रवार को एक अभियान चलाया। अधिकारियों ने कहा कि विकास विभाग की कृषि इकाई ने कृषि विज्ञान केंद्र के अधिकारियों के सहयोग से उत्तरी दिल्ली के दरयापुर गांव में एक प्रशिक्षण और प्रदर्शन शिविर का आयोजन किया। दिल्ली सरकार ने संबंधित अधिकारियों को फसलों और सब्जियों के खेत में कीटनाशक का छिड़काव करने का आदेश बृहस्पतिवार को दिया था।

राय ने कहा था कि इस विषय पर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक ए पी सैनी ने बुधवार को जारी एक परामर्श में अधिकारियों से कहा था कि टिड्डियों के हमले से राष्ट्रीय राजधानी को बचाने के लिए जनता और किसानों के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए। टिड्डियों के हमले से नर्सरी के पौधों को बचाने के लिए दिल्ली का वन विभाग उन्हें पॉलीथिन से ढकने पर विचार कर रहा है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक ईश्वर सिंह ने कहा, “पेड़ों को ढकना संभव नहीं है। हम कम से कम नर्सरी के पौधों को ढक देंगे।” 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश में टिड्डी दल ने बोला धावा, प्रकोप बढ़ने की आशंका

उन्होंने कहा, “पौधों को पॉलीथिन से ढकना भी पूरी तरह ठीक नहीं है और गर्मी में इसका उल्टा प्रभाव देखने को मिल सकता है। इसलिए हम यह तभी करेंगे जब दिल्ली में टिड्डियों के हमले की पुख्ता जानकारी होगी।” सिंह ने कहा कि दिल्ली की 14 सरकारी नर्सरियों में 14 लाख पौधे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।