कोयला घोटाला मामला: अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी के खिलाफ जमानती वारंट जारी

कोयला घोटाला मामला: अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी के खिलाफ जमानती वारंट जारी
ANI

अदालत ने मामले पर अगली सुनवाई के लिए 20 अगस्त की तारीख तय की। ईडी ने केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा नवंबर 2020 में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर धन शोधन रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत एक मामला दर्ज किया था।

नयी दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल, अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी के खिलाफ जमानत वारंट जारी किया गया है। दरअसल, पूरा मामला कोयला तस्करी का है। कोयला तस्करी के मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय की ओर से की जा रही है। दिल्ली की अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज एक शिकायत के संबंध में रुजिरा बनर्जी के खिलाफ शनिवार को जमानती वारंट जारी किया। ईडी की ओर से दावा किया गया है कि कोयला घोटाले से जुड़े धन शोधन के मामले में जांच में शामिल होने से इनकार के बाद शिकायत दर्ज की गई है। 

इसे भी पढ़ें: बंगाल में अमित शाह ने राष्ट्रपति शासन वाली मांग को किया खारिज, नेताओं से बोले- संघर्ष करें, सत्ता में आएं

खबरों के मुताबिक अभिषेक बनर्जी से भी ईडी ने दो बार पूछताछ कर लिया है। वही रुजिरा बनर्जी को समन जारी किया गया था। लेकिन वह पेश नहीं हुई थीं। अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी रुजिरा बनर्जी को 21 और 22 मार्च को ईडी ने अपने दिल्ली कार्यालय में पूछताछ के लिए पेश होने का तलब किया था। हालांकि, दंपत्ति की ओर से ईडी के सामान के खिलाफ हाईकोर्ट का रुख किया गया था। लेकिन कोर्ट ने उन्हें राहत देने से इंकार कर दिया। फिलहाल मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट स्निग्धा सरवरिया ने ईडी की याचिका पर आदेश जारी किया है। इससे पहले एजेंसी के विशेष लोक अभियोजक नितेश राणा ने अदालत को बताया कि आरोपी के खिलाफ कई सम्मन जारी होने के बावजूद वह अदालत या जांच एजेंसी के समक्ष पेश नहीं हो रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: दीदी से निपटने के लिए दादा का सहारा ले सकती है भाजपा ! अमित शाह ने सौरव गांगुली के आवास पर किया रात्रिभोज

अदालत ने मामले पर अगली सुनवाई के लिए 20 अगस्त की तारीख तय की। ईडी ने केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा नवंबर 2020 में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर धन शोधन रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत एक मामला दर्ज किया था। सीबीआई ने राज्य के कुनुस्तोरिया और काजोरा इलाकों में तथा आसनसोल के आसपास ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों से संबंधित करोड़ों रुपये के कथित घोटाले के संबंध में प्राथमिकी दर्ज की है। ईडी ने पहले दावा किया था कि अभिषेक बनर्जी इस गैरकानूनी कारोबार से मिलने वाली निधि के लाभार्थी हैं। हालांकि, उन्होंने सभी आरोपों से इनकार किया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।