बालाकोट को राजनाथ ने बताया भारत के इतिहास में सबसे बड़ा आतंकवाद विरोधी अभियान

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 10 2019 8:36AM
बालाकोट को राजनाथ ने बताया भारत के इतिहास में सबसे बड़ा आतंकवाद विरोधी अभियान
Image Source: Google

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दावा किया कि वे (विपक्षी दल) कहते हैं कि वायुसेना को शव गिनने चाहिये थे।

नयी दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बृहस्पतिवार को दक्षिण दिल्ली में एक चुनावी रैली में कहा कि पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण केन्द्रों पर किये गए हवाई हमले भारत के इतिहास में सबसे बड़ा आतंकवाद विरोधी अभियान है। भाजपा के वरिष्ठ नेता ने दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार पर भी निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उसने 2015 में सत्ता में आने के बाद लोगों के किये वादों को पूरा नहीं किया। उन्होंने पुलवामा आतंकी हमले के बाद वायुसेना के हवाई हमलों में मारे गए आतंकियों की संख्या पूछने पर भी विपक्षी दलों को आड़े हाथों लिया। 

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: राजनाथ सिंह ने कांग्रेस पर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने के आरोप लगाए

सिंह ने दावा किया कि वे (विपक्षी दल) कहते हैं कि वायुसेना को शव गिनने चाहिये थे। गृहमंत्री के रूप में पुख्ता खुफिया जानकारी के आधार पर मैं पूरी दृढ़ता से कह सकता हूं कि बालाकोट हवाई हमला भारत के इतिहास का सबसे बड़ा आतंकवाद विरोधी अभियान था। उन्होंने कहा कि हवाई हमला दुनिया का सबसे बड़ा आतंकवाद विरोधी अभियान था। बदरपुर इलाके में एक रैली में उन्होंने कहा,  डॉजियर भेजने के दिन अब बीत चुके हैं। अब हम आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे। इतालवी पत्रकार की एक खबर का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि बालाकोट में 170 आतंकवादी मारे गए जबकि कई आतंकियों को उपचार के लिये स्थानीय अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

इसे भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: उत्तर प्रदेश में पहले दो घंटे में 9.76 प्रतिशत मतदान



दक्षिण दिल्ली से भाजपा उम्मीदवार रमेश बिधूड़ी के लिये वोट मांगते हुए सिंह ने कहा कि उनकी जीत यह सुनिश्चित करेगी कि मोदी दोबारा देश के प्रधानमंत्री बनें। दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अगर उसने (आम आदमी पार्टी) सत्ता में आने से पहले जनता से किये वादे पूरे किये होते तो पानी, बिजली, विद्यालयों और कॉलेजों का संकट नहीं होता।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video