किसानों का 'भारत बंद': गाजीपुर सीमा पर यातायात बंद, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

Ghazipur border
दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्वीट किया, ‘‘गाजीपुर सीमा पर एनएच-24 (दोनों परिवहन मार्ग) पर यातायात बंद है।’’

नयी दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों द्वारा आहूत ‘भारत बंद’ के मद्देनजर गाजीपुर सीमा से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-24 के दोनों ओर के परिवहन मार्ग शुक्रवार को बंद कर दिए। संयुक्त किसान मोर्चा ने बंद का आह्वान किया है। दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्वीट किया, ‘‘गाजीपुर सीमा पर एनएच-24 (दोनों परिवहन मार्ग) पर यातायात बंद है।’’ एक तरफ के परिवहन मार्ग को यातायात के लिए 15 मार्च को खोला गया था। वहीं किसानों का प्रदर्शन शुरू होने के बाद से ही गाजियाबाद से दिल्ली की ओर आने वाला अन्य मार्ग बंद है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि बंद के मद्देनजर सुरक्षा के पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं। दिल्ली पुलिस के पीआरओ चिन्मय बिस्वाल ने कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में शांति बनाए रखने के लिए गश्त तेज की जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों का 'भारत बंद', सड़कों पर दिखा असर 

बिस्वाल ने कहा, ‘‘बंद के दौरान सुरक्षा के पर्याप्त बंदोबस्त होंगे। गश्त कर्मी दिन भर अपने इलाके में घूमेंगे और उनका ध्यान भीड़-भाड़ वाले बाजारों में शांति बनाए रखने पर होगा।’’ दिल्ली की तीन सीमाओं सिंघू, गाजीपुर और टीकरी पर किसानों के आंदोलन के चार महीने पूरे होने पर राष्ट्रव्यापी बंद सुबह छह बजे से शुरू होगा और शाम छह बजे तक चलेगा। मोर्चा ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में बंद का आह्वान किया गया है। गौरतलब है कि मुख्यत: पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हजारों किसान सिंघू, टीकरी और गाजीपुर सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं। वे तीन कृषि कानूनों को पूरी तरह से वापस लेने और उनकी फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए कानूनी गारंटी देने की मांग कर रहे हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़