भोजपुरी अभिनेताओं के बूते मतदाताओं को लुभाएगी भाजपा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 28, 2019   21:02
भोजपुरी अभिनेताओं के बूते मतदाताओं को लुभाएगी भाजपा

पवन सिंह पहले से ही भाजपा में हैं जबकि यादव बुधवार को लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में पार्टी में शामिल हुये।

मुंबई। भाजपा भोजपुरी फिल्म जगत के कुछ बड़े कलाकारों की लोकप्रियता के सहारे पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में लोकसभा की कुछ सीटों पर कब्जा करना चाहती है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि भाजपा में रवि किशन, गायक-अभिनेता दिनेश लाल यादव उर्फ ‘निरहुआ’ और पवन सिंह जैसे भोजपुरी सिनेमा के सितारे शामिल हुये हैं और उनके पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल से चुनाव लड़ने की संभावना है जहां भोजपुरी मतदाताओं की अच्छी तादाद हैं।

पवन सिंह पहले से ही भाजपा में हैं जबकि यादव बुधवार को लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में पार्टी में शामिल हुये। जाने माने भोजपुरी अभिनेता-गायक मनोज तिवारी पहले से ही भाजपा में हैं। 2013 में भाजपा में शामिल होने वाले तिवारी इस समय पार्टी के दिल्ली इकाई के अध्यक्ष हैं। मुंबई भाजपा के महासचिव अमरजीत मिश्रा ने बताया, ‘‘मनोज तिवारी, रवि किशन, निरहुआ, पवन सिंह जैसे भोजपुरी फिल्म जगत के सभी बड़े सितारे भाजपा के साथ हैं और वे चुनाव में अजेय रहेंगे।’’

इसे भी पढ़ें: सपा-बसपा-रालोद गठबंधन को सराब कहने पर अखिलेश और मायावती का मोदी पर निशाना

किशन ने पहले से ही जौनपुर से प्रचार शुरू कर दिया है। हालांकि, भाजपा ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के इस सीट के लिए प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है। अभिनेता ने कहा कि वह जौनपुर से चुनाव लड़ने जा रहे हैं और वह कुछ समय से सामाजिक मुद्दों को उठाते रहे हैं। किशन ने बताया, ‘‘हर कोई मुझे और मेरे काम को जानता है, विशेषकर पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग। मैंने चुनाव लड़ने की अपनी इच्छा व्यक्त की है और मैं मोदी जी, अमित शाह जी और योगी जी का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मुझे पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों की सेवा का मौका देने का निर्णय लिया।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।