BPSC Paper Leak मामले में बड़ी कार्रवाई, पूछताछ के बाद BDO अरेस्ट

BPSC Paper Leak मामले में बड़ी कार्रवाई, पूछताछ के बाद BDO अरेस्ट
prabhasakshi

जिस बीडीओ को गिरफ्तार किया गया है, उनका नाम जयवर्धन गुप्ता है। उन्हें आरा के वीर कुंवर सिंह कॉलेज में परीक्षा केंद्र का मजिस्ट्रेट बनाया गया था। यहीं से परीक्षा को लेकर धांधली की बड़ी खबर आई थी।

बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षा पेपर लीक मामले में अब कार्रवाई शुरू हो चुकी है। लंबी पूछताछ के बाद आरा के एग्जाम सेंटर पर तैनात बीडीओ को गिरफ्तार कर लिया गया है। बीडीओ के अलावा कॉलेज के प्रिंसिपल, एग्जाम कंट्रोलर और सहायक एग्जाम कंट्रोलर पर भी गाज गिरी है। सभी को आगे की पूछताछ के लिए पटना ले जाया गया है। आपको बता दें कि जिस बीडीओ को गिरफ्तार किया गया है, उनका नाम जयवर्धन गुप्ता है। उन्हें आरा के वीर कुंवर सिंह कॉलेज में परीक्षा केंद्र का मजिस्ट्रेट बनाया गया था। यहीं से परीक्षा को लेकर धांधली की बड़ी खबर आई थी। 

इसे भी पढ़ें: IAS अधिकारी ने कहा- तेज हवाओं की वजह से गिरा एक निर्माणाधीन पुल, नितिन गडकरी सुनकर हुए हैरान

दावा किया जा रहा है कि पूछताछ करने गई आर्थिक अपराध इकाई को बीडीओ के खिलाफ पुख्ता सबूत मिले हैं। अभी भी इस मामले में लगातार पूछताछ की जा रही है और आगे कई लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है। आपको बता दें कि रविवार को बीपीएससी की परीक्षा का आयोजन किया गया था। 67 वीं बीपीएससी परीक्षा के लिए राज्य भर के 38 जिलों के 1083 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की गई थी। परीक्षा शुरू होने के 1 घंटे पहले ही पेपर लीक होने की खबर आई। दरअसल, परीक्षा का सेट-सी का प्रश्न पत्र लिक हो गया था और सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसके बाद से प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। 

इसे भी पढ़ें: असल मुद्दों से ध्यान भटकाकर जहर फैलाने की हो रही बातें, तेजस्वी यादव ने कही यह अहम बात

पहले तो प्रशासन ने जांच कमेटी बनाई और जांच कमेटी के रिपोर्ट के आधार पर परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया गया। खुद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया दे चुके हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि अपराध में शामिल लोगों पर कार्रवाई की जाए। मामले की जांच राज्य पुलिस की विशेष इकाई कर रही है। कुमार ने कहा कि बीपीएससी परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होना गंभीर चिंता का विषय है। मैंने वरिष्ठ अधिकारियों से जल्द से जल्द जांच पूरी करने को कहा है। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा और जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।’’ 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।