AAP विधायक अमानतुल्लाह खान को बड़ी राहत, साकेत कोर्ट ने दी जमानत

AAP विधायक अमानतुल्लाह खान को बड़ी राहत, साकेत कोर्ट ने दी जमानत
ANI

मदनपुर खादर में दक्षिण दिल्ली नगर निगम द्वारा अतिक्रमण विरोधी चलाया अभियान चलाया जा रहा था। इसी दौरान अमानतुल्लाह खान ने अपने समर्थकों के साथ इसका विरोध किया था। इसके बाद अमानतुल्लाह खान को हिरासत में लिया गया था। पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को बड़ी राहत मिली है। अमानतुल्लाह खान को साकेत कोर्ट ने आज जमानत दे दी। दरअसल, अमानतुल्लाह खान को मंगलवार को दिल्ली पुलिस की ओर से गिरफ्तार किया गया था। अमानतुल्लाह खान पर सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप लगा है। दरअसल, मदनपुर खादर में दक्षिण दिल्ली नगर निगम द्वारा अतिक्रमण विरोधी चलाया अभियान चलाया जा रहा था। इसी दौरान अमानतुल्लाह खान ने अपने समर्थकों के साथ इसका विरोध किया था। इसके बाद अमानतुल्लाह खान को हिरासत में लिया गया था। पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने बुलडोजर से बनाई वसूली की योजना, जनता के साथ खड़ा है AAP का एक-एक विधायक: सिसोदिया

आपको बता दें कि जब शाहीन बाग में बुलडोजर चल रहा था तब भी अमानतुल्लाह खान ने विरोध किया था। उस दौरान भी इनके खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी। अतिक्रमण विरोधी अभियान के खिलाफ मदनपुर खादर इलाके में हिंसक प्रदर्शन हुआ और स्थानीय लोगों ने दावा किया कि वैध ढांचे भी ध्वस्त किए जा रहे हैं। पुलिस के मुताबिक दक्षिणपूर्व दिल्ली के मदनपुर खादर इलाके में स्थानीय लोगों ने बुलडोजर को रोकने की कोशिश की और सुरक्षा कर्मियों पर पथराव किया। हालांकि, उन्हें मौके से तितर-बितर कर दिया गया। 

इसे भी पढ़ें: राजकोट में केजरीवाल का बड़ा ऐलान, गुजरात में AAP की सरकार बनी तो बुजुर्गो को कराएंगे मुफ्त तीर्थ यात्रा

आपको बता दें कि दिल्ली के तीनों नगर निगमों- एसडीएमसी, एनडीएमसी और पूर्वी दिल्ली नगर निगम- में भाजपा का शासन है। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों और पुलिस की सुरक्षा में बुलडोजर से मदनपुर खादर के कंचन कुंज में कथित अवैध ढांचों को ध्वस्त किया गया जिसका विरोध करने के लिए महिलाओं सहित स्थानीय लोग सड़कों पर आ गए और कुछ लोग इमारतों की छत पर चढ़ गए। आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने मदनपुर खादर के कंचन कुंज में अपने समर्थकों और स्थानीय लोगों के साथ इस अभियान का विरोध किया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।