मतदान के दौरान हुई हिंसा के बाद तीसरे चरण में होगा ज्यादा केन्द्रीय बलों की तैनाती- EC

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 20 2019 10:42AM
मतदान के दौरान हुई हिंसा के बाद तीसरे चरण में होगा ज्यादा केन्द्रीय बलों की तैनाती- EC
Image Source: Google

पार्टी ने आयोग से कहा कि त्रिपुरा पूर्व सीट पर आम चुनाव 18 अप्रैल से स्थगित होकर अब 23 अप्रैल को होने हैं और माकपा और कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा द्वारा कानून व्यवस्था की समस्या पैदा की जा रही है।

नयी दिल्ली। पश्चिम बंगाल और ओडिशा की सत्तारूढ पार्टियों पर हिंसा करने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने शुक्रवार को चुनाव आयोग से स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनावों के लिए अतिरिक्त केन्द्रीय बलों की तैनाती तथा सीसीटीवी कैमरे लगाने जैसे और उपाय करने का अनुरोध किया। भाजपा ने मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) को अलग अलग मुद्दों से जुड़े तीन ज्ञापन सौंपे।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की जांच में फडणवीस को क्लीन चिट

एक ज्ञापन में भाजपा ने त्रिपुरा में विपक्षी दलों द्वारा उस पर लगाए गए इस आरोप से इंकार किया कि वह कानून व्यवस्था के लिए समस्या पैदा कर रही है। पार्टी ने आयोग से कहा कि त्रिपुरा पूर्व सीट पर आम चुनाव 18 अप्रैल से स्थगित होकर अब 23 अप्रैल को होने हैं और माकपा और कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा द्वारा कानून व्यवस्था की समस्या पैदा की जा रही है।
यह आरोप गुमराह करने वाला है। भाजपा ने एक अन्य ज्ञापन में आयोग से अनुरोध किया कि पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनावों के बचे हुए चरणों में सुचारू ढ़ंग से मतदान संपन्न कराने के लिए केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती हो तथा सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video