भाजपा ने ‘पापंजी’ का चेहरा मोदी से मिलता जुलता होने का लगाया आरोप, आयोजक बदलाव पर सहमत

cochin
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
पापंजी’ एक बूढ़े व्यक्ति का विशाल पुतला होता है। फोर्ट कोच्चि के भाजपा कार्यकर्ताओं ने उस मैदान पर विरोध प्रदर्शन किया जहां पापंजी का ढांचा बनाया जा रहा था।

प्रत्येक वर्ष नये साल के मौके पर बंदरगाह शहर कोच्चि में आयोजित होने वाले वार्षिक उत्सव ‘कोचीन कार्निवल’ के आयोजक बुधवार को उस पापंजी के चेहरे को फिर से बनाने पर सहमत हो गए जिसको लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आरोप लगाया है कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे से मिलता-जुलता है। ‘पापंजी’ एक बूढ़े व्यक्ति का विशाल पुतला होता है। फोर्ट कोच्चि के भाजपा कार्यकर्ताओं ने उस मैदान पर विरोध प्रदर्शन किया जहां पापंजी का ढांचा बनाया जा रहा था।

सोशल मीडिया पर पापंजी की तस्वीर यह कहते हुए साझा की गई कि यह प्रधानमंत्री मोदी के चेहरे से मिलती-जुलती है। नए साल का स्वागत करने के लिए प्रसिद्ध फोर्ट कोच्चि समुद्र तट पर पापंजी का दहन 31 दिसंबर की मध्यरात्रि में एक प्रमुख कार्यक्रम होता है, जो गुजरते साल के भार को समाप्त करने और नये साल की शुरुआत का प्रतीक होता है। कोचीन कार्निवल कमेटी के एक पदाधिकारी ने कहा, सभी मुद्दों को सुलझा लिया गया है।’’

उन्होंने कहा कि कोचीन कार्निवल कमेटी में सभी दलों और धर्मों के लोग शामिल होते हैं। उन्होंने कहा, भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध की आवाज उठाने के बाद हमने पुतले के चेहरे पर से छवि को हटा दिया है। अब, हम सभी कार्निवल मनाने के लिए एकजुट होकर काम कर रहे हैं।’’ भाजपा के एक कार्यकर्ता ने कहा कि कार्निवाल कमेटी ने पार्टी कार्यकर्ताओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए उनसे माफी मांगी है। भाजपा एर्नाकुलम के जिला अध्यक्ष एडवोकेट के एस शैजू ने आरोप लगाया कि यह कार्निवल समिति में कुछ निहित स्वार्थों की करतूत थीजो लोकप्रिय कार्यक्रम में गड़बड़ी उत्पन्न करना चाहते थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़